जागरण संवाददाता, गाजियाबाद : होम-आइसोलेशन में रखे गए 241 संक्रमितों की निगरानी का किराया देना होगा। दरअसल संक्रमितों की निगरानी के लिए जिले में छह रैपिड रेस्पांस टीम गठित कर रखी हैं। इनमें चिकित्सक, नर्स और वार्ड ब्यॉय भी शामिल हैं। पिछले बीस दिन से टीम खुद ही अपने वाहनों के जरिये मरीजों की निगरानी कर रही है। टीम ने स्वास्थ्य विभाग से वाहनों की मांग की तो सीएमओ ने आरटीओ को पत्र भेजकर वाहनों का इंतजाम कराने का अनुरोध किया गया। आरटीओ द्वारा प्रशासन के अलावा सीएमओ को पत्र भेजकर अवगत कराया कि छह वाहनों का इंतजाम कर दिया गया है। साथ ही इन वाहनों का किराया भी मांगा है। दैनिक किराया 1173 रुपये मांगा गया है। साथ में तेल और ईधन का पैसा भी जोड़ा गया है। छह वाहनों का रोज का किराया करीब नौ हजार रुपयेहोगा। इस संबंध में सीएमओ डॉ. एनके गुप्ता का कहना है कि तय किए गए किराये की जांच कराई जाएगी। उसके बाद ही भुगतान किया जाएगा। उधर एआरटीओ प्रशासन विश्वजीत राय का कहना है कि किराये का पूरा विवरण शासनादेश का हवाला देते हुए स्वास्थ्य विभाग के अलावा प्रशासन को भेजा गया है। उनका कहना है कि किराया तो देना ही होगा। विभाग ने निजी ट्रांसपो‌र्ट्स से उक्त छह हल्के वाहन स्वास्थ्य विभाग को उपलब्ध कराए गए हैं।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस