जागरण संवाददाता, साहिबाबाद :

प्रदूषण की रोकथाम को लेकर उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (यूपीपीसीबी) सख्त दिखाई दे रहा है। तीन दिन के भीतर दूसरी बार गाजियाबाद और हापुड़ में प्रदूषण फैलाने वालों पर बड़ी कार्रवाई की गई है। यूपीपीसीबी की ओर से प्रदूषण फैलाने पर शनिवार को नगर निगम व गाजियाबाद विकास प्राधिकरण (जीडीए) समेत गाजियाबाद की 19 संस्थाओं पर एक करोड़ 30 लाख 50 हजार और हापुड़ की सात संस्थाओं पर तीन लाख 50 हजार रुपये जुर्माने की संस्तुति की गई है। इन तमाम कार्रवाई के बावजूद भी जिले में जगह जगह कूड़ा जलाया जा रहा है, जिससे हवा प्रदूषित होती है।

यूपीपीसीबी की ओर से इंदिरापुरम की कनावनी पुश्ता रोड पर पर धूल उड़ने पर नगर निगम और जीडीए पर 50 हजार रुपये के जुर्माने की संस्तुति करने के साथ धूल उठाने और नियमित पानी का छिड़काव करने के लिए नोटिस जारी किया गया है। वहीं, कनावनी पुश्ता रोड पर 11 बिल्डिंग मैटेरियल दुकान संचालकों पर 10 लाख रुपये के जुर्माने की संस्तुति की गई है। निर्माणाधीन साइटों पर निर्माण सामग्री व मलबे से हो रहे प्रदूषण से एमीरियल हाइट प्रमोटर अहिसा खंड इंदिरापुरम पर 50 लाख, महालक्ष्मी बिल्डटेक (मिग्सन) अथर्या नूर नगर गाजियाबाद पर 50 लाख और राज नगर की एमएम पाम ड्राइव, अजनारा फ्रेगरेंस, ग्रांड प्लाजा, कैरोल इन्फ्रा स्ट्रक्चर प्रा. लि. पर पांच -पांच लाख रुपये के जुर्माने की संस्तुति की गई है।

----

हापुड़ की इन संस्थाओं पर जुर्माने की संस्तुति :

प्रदूषण फैलाने पर हापुड़ के गढ़ स्थित शिवा बिल्डिंग मैटेरियल, राहुल बिल्डर, वैष्णो सप्लायर, गणपति बिल्डिंग स्टोर, भारत ट्रेडिग कंपनी और दया बिल्डिंग मैटेरियल पर 50 - 50 हजार रुपये का जुर्माना लगाया गया है।

--------

कार्रवाई जारी फिर भी जलाया जा रहा कूड़ा : यूपीपीसीबी के वसुंधरा स्थित क्षेत्रीय कार्यालय के अधिकारियों की ओर से प्रदूषण की रोकथाम के लिए तीन दिन में शनिवार को दूसरी बार कार्रवाई की गई। बृहस्पतिवार को गाजियाबाद व हापुड़ के 12 संस्थाओं पर 80 लाख 75 हजार रुपये जुर्माना लगाया है। शनिवार को कौशांबी मेट्रो स्टेशन के पास साहिबाबाद औद्योगिक क्षेत्र साइट - चार में एकत्र कूड़े में किसी ने आग लगा दी। घंटों तक कूड़ा जला और प्रदूषण होता रहा। इस संबंध में यूपीपीसीबी के क्षेत्रीय अधिकारी उत्सव शर्मा का कहना है कि कूड़ा जलाने वालों पर जुर्माना लगाया जाता है। नगर निगम के अधिकारियों को कूड़ा जलाने वालों को चिह्नित करने को कहा गया है। प्रदूषण फैलाने वालों पर आगे भी कार्रवाई जारी रहेगी।

Edited By: Jagran