जागरण संवाददाता, गाजियाबाद: राशन की दुकानों पर अब मारामारी मचने लगी है। दो दिन में डेढ़ लाख महिलाएं राशन लेने दुकानों पर पहुंचीं। शारीरिक दूरी का अनुपालन तो दूर महिलाएं लाइन में भी खड़ी नहीं हुई। कई दुकानों पर हाथापाई तक की नौबत आ गई। आपूर्ति विभाग द्वारा तैनात किए गए पर्यवेक्षक भी महिलाओं व पुरुषों को समझाने में कामयाब नहीं हुए। कई जगहों पर कोटेदारों ने राशन बांटना बंद किया तब जाकर कार्डधारक लाइनों में शारीरिक दूरी के साथ खड़े हुए। जिले में चार लाख बीस हजार राशन कार्ड धारक हैं। पांच जुलाई से सामान्य राशन वितरण शुरू हुआ है। दो रुपये किलो गेहू और तीन रुपये किलो चावल दिया जा रहा है।

जिला आपूर्ति अधिकारी अभिनव सिंह ने बताया कि जिले की 573 दुकानों पर राशन बांटा जा रहा है। लोग लाइनों में आने की वजह आपाधापी के साथ राशन लेने पहुंच रहे हैं। सोमवार को शहर के अलावा देहात क्षेत्र की करीब पचास दुकानों पर एक साथ भीड़ के पहुंचने की सूचना मिली है। इसकी जांच कराई जाएगी। कोटेदार द्वारा टोकन के जरिए राशन बांटने के निर्देश है। उनके मुताबिक रविवार को 90 हजार और सोमवार को 60 हजार राशन कार्ड धारकों को राशन बांटा गया है। 14 जुलाई तक कुल आठ हजार मीट्रिक टन खाद्यान्न का वितरण किया जाना है।

----

अंत्योदय कार्ड धारक का देने होंगे पैसे

डीएसओ ने बताया कि जिले में साढ़े आठ हजार अंत्योदय कार्ड धारक हैं। केंद्र एवं राज्य सरकार द्वारा आवंटित अतिरिक्त राशन का वितरण बीस जुलाई से किया जाएगा। इसके तहत प्रति यूनिट के हिसाब से पांच किलो चावल और प्रति कार्ड धारक को एक किलो चना नि:शुल्क दिया जा रहा है। अतिरिक्त राशन नवंबर तक बांटा जाएगा।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021