जागरण संवाददाता, गाजियाबाद : नंदग्राम थाना क्षेत्र के हिडन विहार में शनिवार देर रात पति ने पेपर कटर से पत्नी का गला रेतकर हत्या कर दी और मौके से फरार हो गया। पुलिस ने जांच पड़ताल के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा और आरोपित की तलाश शुरू कर दी। शुरुआती जांच के बाद पुलिस का कहना है कि आरोपित ने अवैध संबंधों के शक में पत्नी की हत्या की है। वह परिवार के साथ दिल्ली में बसना चाहता था, लेकिन पत्नी इससे इन्कार करती थी। इसके चलते दंपती में आए दिन विवाद होता था।

नंदग्राम थाना प्रभारी अमित कुमार काकरान ने बताया कि मृतका रानी उर्फ सहाना (30) हिडन विहार स्थित सुल्तान चौक के पास यामीन के मकान में पति शमशाद उर्फ राजू और गोद ली गई भाई की बेटी आफरीन के साथ किराए पर रहती थीं। मूल रूप से फर्रूखाबाद की तहसील कायमगंज के गांव दूधेमई का रहने वाला शमशाद यहां पल्लेदारी का काम करता है। बेटी आफरीन के मुताबिक, शनिवार देर रात को उनकी मां रानी उर्फ सहाना टायलेट के लिए उठी थीं। इस दौरान शमशाद और रानी का दिल्ली में रहने को लेकर विवाद हो गया। विवाद में शमशाद ने पत्नी रानी को पहले लात-घूसों से मारा और फिर घर में रखे पेपर कटर से उनका गला रेतकर हत्या कर दी। पत्नी की हत्या के बाद आरोपित पति आफरीन को धमकी देकर मौके से फरार हो गया। घटना के बाद आफरीन देर रात को ही पड़ोस में रहने वाले रानी के भाई गुड्डू के घर पहुंची और घटना की जानकारी दी। इसके बाद गुड्डू ने पुलिस को सूचना दी। गुड्डू की तहरीर पर पुलिस ने शमशाद के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है। पुलिस उसे तलाश रही है। डेढ़ माह पूर्व ही दोनों ने किया था दूसरा निकाह : सहाना के भाई गुड्डू ने बताया कि उनकी बहन की पहली शादी अलीगढ़ में हुई थी। संतान न होने से रानी ने उनकी बेटी आफरीन को गोद ले लिया था। पति ने करीब चार साल पहले रानी को तलाक दे दिया। पति से तलाक के बाद रानी हिडन विहार में अपने भाई के घर ही रह रही थी। यहां उनकी मुलाकात शमशाद उर्फ राजू से हुई। राजू का भी पहली पत्नी से तलाक हो चुका है। दोनों लोगों ने परिवार की मर्जी से करीब डेढ़ माह पूर्व निकाह कर लिया था। शादी के बाद दोनों गुड्डू के पड़ोस में ही यामीन के मकान में किराए पर रह रहे थे। आरोपित को था पत्नी के अवैध संबंध का शक : शुरुआती जांच के बाद पुलिस का कहना है कि आरोपित शमशाद को पत्नी के अवैध संबंध होने का शक था। इसे लेकर उनके बीच आए दिन झगड़े होते थे। शमशाद गाजियाबाद छोड़ दिल्ली में बसने की बात कहता था, लेकिन यह बात पत्नी रानी को मंजूर नहीं थी। वह बेटी आफरीन की पढ़ाई का हवाला देकर दिल्ली जाने से मना करती थी। बच्ची ने भी पूछताछ में पुलिस को बताया कि पिता शमशाद दिल्ली जाने की जिद करते थे।

Edited By: Jagran