मदन पांचाल, गाजियाबाद: कोरोना महामारी में सुरक्षा की सुई असरदार साबित हो रही है। दूसरी ही नहीं, तीसरी लहर में भी संक्रमण से बचाव को लेकर कोरोनारोधी टीका बड़ा हथियार बना है। यही वजह है कि कोरोना के केस बढ़ने के साथ ही टीकाकरण में तेजी से इजाफा हुआ है। देश के साथ ही गाजियाबाद में टीकाकरण को शुरू हुए पूरे एक साल हो गए हैं। इस बीच लोगों ने कोरोना का खूब तांडव भी देखा है, लेकिन टीका लगवाने से कोरोना का संक्रमण ही नहीं, डर भी कम हुआ है। 10 फरवरी को होने वाले मतदान को लेकर भी मतदाताओं में उत्साह की वजह टीकाकरण ही है। एक साल में जिले के 28.70 लाख लोगों को टीके की 48 लाख डोज लग चुकी हैं। 16 जनवरी 2021 को जिला महिला अस्पताल से शुरू हुआ टीकाकरण जारी है। पहले दिन 300 स्वास्थ्यकर्मियों ने ही टीका लगवाया था। 19 हजार ने लगवाया टीका : शुक्रवार को जिले के 256 केंद्रों पर कुल 19,779 लोगों ने कोरोनारोधी टीका लगवाया है। इनमें 12,502 लोगों ने सतर्कता डोज भी लगवाई हैं। 28,70,137 लोगों को कुल 48,01,227 लाख डोज लग चुकी हैं। इनमें 19,18,587 लोगों को दोनों डोज लग चुकी हैं। टीकाकरण एक नजर में..

- 16 जनवरी से लेकर अब तक 28.70 लाख लोगों को कुल 48.01 लाख डोज लगाई गई हैं।

- 23 लाख लोगों की जांच करने पर 67,336 लोग संक्रमित हुए एवं 56,301 स्वस्थ हुए हैं।

- वर्तमान में 10,604 सक्रिय केस हैं। इनमें से केवल 41 अस्पतालों में भर्ती है।

- शेष का घर पर ही इलाज चल रहा है।

- दिसंबर 2021 से लेकर 14 जनवरी तक मिले संक्रमितों में 2,765 लोग ऐसे शामिल हैं जिन्होंने पहली डोज भी नहीं लगवाई है और कुछ ऐसे हैं जिन्होंने दूसरी डोज समय पर नहीं लगवाई है।

वर्जन.. कोरोनारोधी टीका लगवाने वाले लोगों पर कोरोना का नया वैरिएंट बहुत ज्यादा प्रभाव नहीं डाल रहा है। अधिकांश में लक्षण भी नहीं मिल रहे हैं। टीका न लगवाने वाले संक्रमितों को बुखार एवं सांस लेने में परेशानी हो रही है। वंचित लोगों को टीका लगवाना चाहिए। बच्चों को टीका लगवाने के लिए सजग रहें। कोरोना को मात देने में टीका कारगर साबित हो रहा है।

-डा.भवतोष शंखधर,सीएमओ।

Edited By: Jagran