गाजियाबाद, जागरण संवाददाता। शादी कराने का झांसा देकर वैशाली सेक्टर-एक में 2 दिन पहले वेडिंग प्लानर 10 लाख रुपये लेकर फरार हो गया। होटल, बैंक्वेट हॉल व अन्य व्यवस्थाओं के लिए पार्टी से पैसे उसने एडवांस में लिए थे। हालांकि पीड़ित ने किसी तरह बेटी की शादी कराई और इंदिरापुरम थाने में मामले की शिकायत दी।

गुरुग्राम के वेडिंग प्लानर को दिया था जिम्मा

वैशाली सेक्टर-एक में एमडी शर्मा सपरिवार रहते हैं। वह गुरुग्राम की मल्टीनेशनल कंपनी में कार्यरत हैं। उन्होंने बताया कि बेटी की नौ दिसंबर को शादी थी, जिसके लिए गुरुग्राम के वेडिंग प्लानर को जून में सारी व्यवस्थाएं कराने का जिम्मा दिया था। तब 2 लाख रुपये एडवांस दिए थे।

दुकान बंद करने के नाम पर अवैध वसूली, दुकानदार भरते हैं अपनी जेब

व्यवस्थाएं जांचने पहुंचे तो रद पाई बुकिंग

वेडिंग प्लानर ने पीड़ित को कौशांबी के होटल में शादी कराने की सारी व्यवस्थाएं बताई। उन्होंने तय समझौते के अनुसार उसे 30 नवंबर तक बाकी के आठ लाख रुपये भी दिए। शादी के 2 दिन पहले 7 दिसंबर को वह (पीड़ित) होटल में व्यवस्था जांचने पहुंचे, तो वहां उनकी बुकिंग रद बताई गई।

फर्जीवाड़े के बावजूद उसी होटल से की शादी

होटल प्रबंधन के मुताबिक अग्रिम धनराशि न जमा होने से बुकिंग रद की गई थी। तत्काल उन्होंने वेडिंग प्लानर से संपर्क किया, तो उसने खुद को मलेशिया में बताया। पीड़ित की मानें तो शादी के कार्ड भी उसी होटल के पते पर बंट चुके थे। अन्य तैयारियां थी, इसलिए उन्होंने किसी तरह पैसों का इंतजाम कर उसी होटल में शादी की। होटल ने 10 लाख के बदले 12 लाख रुपये लिए।

दिल्ली पहुंची सामूहिक दुष्कर्म की शिकार हुई अमेरिकी महिला

होटल पर लगाया मिलीभगत का आरोप

पीड़ित ने सोमवार को इंदिरापुरम में इस संबंध में शिकायत दी और होटल प्रबंधन पर मिलीभगत का आरोप लगाया। थाना प्रभारी इंदिरापुरम बाबर रजा जैदी ने बताया कि मामले की जांच कर उचित कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Amit Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस