मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

गाजियाबाद, जेएनएन। गाजियाबाद के हिंडन एलिवेटेड रोड पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को गंदगी दिखने पर गाजियाबाद विकास प्राधिकरण (Ghaziabad Develoment authority) के चार अभियंताओं को कारण बताओ नोटिस दिया गया है। इसके अलावा एलिवेटेड रोड का रखरखाव करने वाली नवयुगा इंजीनियरिंग कंपनी लिमिटेड को भी नोटिस जारी किया गया है। तीन दिन में सबसे जवाब मांगा गया है। जवाब न आने पर बड़ी कार्रवाई करने की चेतावनी दी गई है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बुधवार को एलिवेटेड रोड के रास्ते पूर्व केंद्रीय मंत्री सुषमा स्वराज को अंतिम विदाई देने दिल्ली गए थे। यूपी गेट के पास एलिवेटेड रोड पर कई जगह उन्हें गंदगी नजर आई। उन्होंने इस पर नाराजगी जताई। इस रोड को खुले हुए एक साल पांच माह हुए हैं। इतने समय में सड़क की साफ-सफाई व्यवस्था चौपट हो चली है। सामान्य लोगों से पहले भी इस तरह की शिकायतें मिलती रहीं, लेकिन उन पर सुनवाई नहीं हुई। इस बार मुख्यमंत्री ने नाराजगी जताई तो जीडीए में हलचल मच गई।

वहीं, रोड की सफाई ठीक से न होने के आरोप में जीडीए के परियोजना प्रभारी अधिशासी अभियंता आरपी सिंह, सहायक अभियंता आरके सिंह, अवर अभियंता जगजीवन देवड़ी और अवर अभियंता मनोज गर्ग को कारण बताओ नोटिस दिया गया है। इसके अलावा एलिवेटेड रोड का निर्माण और देखरेख करने वाली नवयुगा इंजीनियरिंग कंपनी लिमिटेड को नोटिस दिया गया है।

संतोष कुमार राय (सचिव, जीडीए) के मुताबिक, हिंडन एलिवेटेड रोड पर पर गंदगी थी। इस आरोप में अधिशासी अभियंता, सहायक अभियंता और दो अवर अभियंताओं और रोड की व्यवस्थाएं देखने वाली कंपनी को भी नोटिस दिया गया है।

वहीं, इससे पहले सुषमा स्वराज के निधन पर सीएम योगी ने कहा था कि भारत सरकार की मंत्री के रूप में उनकी सेवाओं को सदैव याद किया जाएगा। विदेश मंत्री के तौर पर उन्होंने विदेश में भारत के नागरिकों को तेजी से मदद और राहत उपलब्ध कराने का अविस्मरणीय कार्य किया था। उनके निधन से समाज को अपूर्णीय क्षति हुई है।

दिल्ली-NCR की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: JP Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप