जागरण संवाददाता, गाजियाबाद। एक बार फिर लाकडाउन लगने के चलते शहर की सड़कों से वाहनों का दबाव कम हो गया है। इस कारण जाम भी नहीं लग रहा है। इसीलिए आम दिनों में यातायात के संचालन करने वाले ट्रैफिक पुलिसकर्मियों को कोविड अस्पतालों में लगाया गया है। वहीं कुछ पुलिसकर्मी फिलहाल कोरोना से जूझ रहे हैं।

एसपी ट्रैफिक ने बताया कि जिले में ट्रैफिक पुलिस के पास लगभग 500 जवान हैं। इनमें से 150 जवान पहले से ही विभिन्न थाना क्षेत्रों में तैनात थे। लाकडाउन के बाद कोविड अस्पताल व जांच केंद्रों पर जरूरत पड़ी तो ट्रैफिक पुलिस के 100 जवान कोविड ड्यूटी में लगाए गए हैं। करीब इतने ही जवान विभिन्न चौराहों और मुख्य मार्गों पर चेकिंग में लगाए गए हैं ताकि लाकडाउन का पालन सुनिश्चित कराया जा सके।

90 ट्रैफिक पुलिसकर्मी हो चुके संक्रमित

एसपी ट्रैफिक रामानंद कुशवाहा का कहना है कि सड़क पर ड्यूटी करने और रोजाना हजारों लोगों के संपर्क में आने के चलते कोरोना की दूसरी लहर में करीब 90 ट्रैफिक पुलिसकर्मी इस वायरस की चपेट में आ चुके हैं। दो जवानों की मौत हो चुकी है और 53 कोरोना को मात दे चुके हैं। बाकी अभी भी कोरोना से जंग लड़ रहे हैं। कोरोना नेगेटिव हुए 20 पुलिसकर्मियों में इस संक्रमण के बाद होने वाली स्वास्थ्य समस्याएं देखने को मिली हैं। शारीरिक व मानसिक रूप से मजबूत होने के लिए इनकी छुट्टी बढ़ाई गई हैं। वहीं कोरोना संक्रमित पुलिसकर्मियों के उपचार पर नजर बनाए हुए हैं।

Edited By: Vinay Kumar Tiwari