गाजियाबाद, जेएनएन। दिल्ली से सटे गाजियाबाद के शिब्बनपुरा में एक शख्स ने प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत अनुदान लेकर पंद्रह वर्ग गज जमीन पर तीन मंजिल मकान बना लिया। मंगलवार रात को मकान झुक गया। शिकायत पर नगर निगम व डूडा के अधिकारियों वहां पहुंचे। मकान को खाली कराया। आसपास सुरक्षा इंतजाम किए गए हैं। मकान की दो मंजिल ध्वस्त करने का नोटिस मकान मालिक को दिया है।

शिब्बनपुरा गली नंबर पांच में सुनीता पत्नी हरदत्त का मकान है। इसका क्षेत्रफल महज 15 वर्ग गज है। इसे बनाने के लिए वित्त वर्ष 2018-19 में इन्हें ढाई लाख रुपये का अनुदान दिया गया था। सुनीता ने इस धनराशि से भूतल बनाने के बजाय तीन मंजिल का मकान बना लिया। छज्जे बाहर निकाल कर सड़क की जगह घेर ली। नियमों के विरुद्ध निर्माण किया गया। मंगलवार रात को अचानक लोगों को लगा कि मकान एक तरफ झुक रहा है। लोगों को लगा कि मकान गिर जाएगा। डर की वजह से लोगों ने रात में नगर निगम अधिकारियों को शिकायत कर दी।

अधिकारी मुस्तैदी दिखाते हुए रात में पहुंच गए। शिकायत सही मिलने पर पहले इस मकान को खाली कराया गया। मकान को सपोर्ट देकर सुरक्षा इंतजाम किए गए। निगम के मुख्य अभियंता और डूडा के परियोजना अधिकारी पवन शर्मा ने सुनीता को बुधवार को दो मंजिल ध्वस्त कराने का नोटिस दिया है। ध्वस्त नहीं कराया तो विधिक कार्रवाई की जाएगी।

डूडा कराएगा मरम्मत

इस मकान की मरम्मत डूडा को करानी होगी। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत इस तरह का यह पहला प्रकरण है। जिसने डूडा अधिकारियों के लिए मुसीबत खड़ी कर दी है। मरम्मत के लिए पैसा कहां से आएगा, डूडा अधिकारी मंथन कर रहे हैं।

दिल्ली-NCR की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

Posted By: JP Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप