गाजियाबाद, जागरण संवाददाता। डिडौली गांव से चार दिन पहले लापता हुए युवक का अभी तक कोई सुराग नहीं लगा है। परिवार के लोगों के आरोप के आधार पर पुलिस ने पड़ोसी के घर से युवक के जूते बरामद किए हैं। एक संदिग्ध को पुलिस ने हिरासत में लेकर पूछताछ की है। उससे पूछताछ के आधार पर पुलिस को पूरा भरोसा है कि युवक की हत्या कर उन्होंने शव को गंग नहर में फेंक दिया है।

पुलिस ने ली गोताखोरों की मदद

फिलहाल पुलिस गोताखोरों की मदद ले रही है। NDRF को तैनात करने की भी योजना बनाई गई है। ध्यान रहे कि डिडौली गांव का 25 वर्षीय कृष्ण पुत्र मुनेश चार दिन पहले संदिग्ध परिस्थिति में लापता हो गया था। उसकी काफी तलाश करने के बावजूद भी जब वह नहीं मिला तो परिवार के लोगों ने थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई।

बुधवार को परिवार के लोगों ने पुलिस के अधिकारियों से मुलाकात कर संदेह जताया कि युवक की सोची समझी साजिश के तहत हत्या कर दी गई है। उन्होंने गांव के ही पड़ोस में रहने वाले एक परिवार के लोगों पर हत्या का संदेह जताया। इसी आधार पर पुलिस ने आरोपितों के यहां छापामारी की। इस दौरान आरोपित मकान छोड़कर फरार हो चुके थे। कृष्ण के परिवार के लोगों ने आरोपितों के घर मिले जूतों के बारे में बताया कि यह जूते कृष्ण के हैं। इसके बाद पुलिस का संदेह और गहरा गया। गांव के ही एक उसके साथी के बारे में बताने पर पुलिस ने उस को हिरासत में ले लिया। आरोपित से पूछताछ करने पर सामने आया है कि आरोपितों ने कृष्ण की हत्या कर उसके शव को गंग नहर में फेंक दिया है।

मामले को लेकर एसीपी ने क्या कहा?

एसीपी निमिष पाटिल का कहना है कि फिलहाल गोताखोरों की मदद से गंग नहर में युवक की तलाश की जा रही है। एनडीआरएफ को तैनात करने के लिए उच्च अधिकारियों से बात की गई है। एसीपी ने बताया कि आरोपितों के हिरासत में लेने के बाद ही सही स्थिति सामने आएगी। फिलहाल पुलिस अलग-अलग बिंदुओं पर मामले की छानबीन कर रही है। जांच पूरी हुए बिना कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी।

Edited By: Abhi Malviya

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट