गाजियाबाद/हापुड़/नोएडा [आशुतोष अग्निहोत्री/विशाल/लोकेश चौहान]। पहले चरण के मतदान में अब 15 दिन ही बचे हैं। 10 फरवरी को होने वाले मतदान के लिए पश्चिमी उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद, गौतमबुद्धनगर और हापुड़ सहित अन्य जिलों में जहां एक ओर भाजपा ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। वहीं दूसरी ओर सपा, बसपा और कांग्रेस के स्टार प्रचारक एनसीआर से नदारद हैं। केवल कांग्रेस से छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ही एनसीआर में आए लेकिन वह भी गौतमबुद्धनगर तक ही सीमित रहे। ऐसे में विपक्षी पार्टियों के प्रत्याशियों के अलावा कार्यकर्ताओं में भी यह बेचैनी है कि उनके कर्ताधर्ता व नीति निर्धारक मतदाताओं से संवाद के लिए कब आएंगे। पेश है एक रिपोर्ट 

भाजपा में मेला, विपक्षियों को इंतजार

पिछले चुनाव में जिले की पांचों सीटों पर कब्जा जमाने वाली भाजपा इस बार पुराने प्रदर्शन को दोहराने के लिए अपना पूरा जोर लगा रही है। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह तीन माह से यहां जिले में लगातार बैठकें कर चुके हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सक्रियता का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि वे पिछले एक माह में तीन बार गाजियाबाद आ चुके हैं। इनके अलावा उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा, उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, प्रदेश प्रभारी राधामोहन सिंह जिले में कई बार बैठकें कर चुके हैं। मंगलवार को महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष गीता शाक्य और पार्टी की स्टार प्रचारक अंतरराष्ट्रीय पहलवान बबिता फौगाट भी जिले में वोटरों से संवाद करती दिखीं। वहीं दूसरी ओर जिले में सपा- रालोद के खाते में अभी तक उनकी पार्टी का कोई स्टार प्रचारक जिले में नहीं दिखा। सपा जिलाध्यक्ष राशिद मलिक और रालोद जिलाध्यक्ष तेजपाल सिंह कहते हैं कि गठबंधन के स्टार प्रचारकों की सूची तैयार हो चुकी है।

अखिलेश यादव जयंत चौधरी की दस्तक होगी जल्द

सपा प्रमुख अखिलेश यादव व रालोद अध्यक्ष जयंत चौधरी जल्द ही गाजियाबाद में भी आएंगे। दिग्गजों के गाजियाबाद में आने में देरी पर कांग्रेस के महानगर अध्यक्ष लोकेश चौधरी का तर्क है कि कांग्रेस पार्टी की ओर से स्टार प्रचारकों की पूरी सूची जारी हो गई है, जिसमें पार्टी के वरिष्ठ नेता शामिल रहेंगे। जल्द ही पार्टी के स्टार प्रचारकों के कार्यक्रम भी तय हो जाएंगे। बसपा जिलाध्यक्ष वीरेंद्र जाटव नाम गिनाते हुए कहते हैं कि बसपा सुप्रीमो मायावती, सतीश मिश्रा, नकुल दुबे, राजकुमार गौतम,समसुद्दीन राइन,मुनकाद अली, मनोज जाटव, सतपाल पीपला, डा. कमलराज, दिनेश काजीपुर बस आने ही वाले हैं। हालांकि कब आएंगे इस पर कहते हैं कि सुरेश कश्यप बुधवार को शहरी क्षेत्र में चुनाव प्रचार करेंगे। बाकी के जैसे-जैसे कार्यक्रम आएंगे वैसे ही क्षेत्रों में घर-घर प्रचार की तैयारी की जाएगी।

हापुड़ में भी नहीं आए विपक्षी दिग्गज

हापुड़ में जिला स्तर के नेता ही अभी प्रचार-प्रसार कर रहे हैं। सपा, रालोद और बसपा का कोई भी दिग्गज नेता अभी जिले में नहीं पहुंचा है। हालांकि, चुनाव आचार संहिता घोषित होने से पहले बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीश मिश्रा यहां सभा कर चुके हैं। भाजपा की ओर से प्रदेश सरकार में मंत्री महेंद्र सिंह ने कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की। जबकि, उपमुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा को भी हापुड़ जनपद में आना था, लेकिन अंतिम समय में उनका कार्यक्रम निरस्त हो गया था। गौतमबुद्धनगर के सांसद व पूर्व केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा भी पिलखुवा क्षेत्र में मंडल स्तर पर बैठक की । सपा का दावा है कि फरवरी के प्रथम सप्ताह में अखिलेश यादव जिले में आएंगे। वहीं, रालाेद से अभी तक मात्र त्रिलोक चंद त्यागी ने ही एक बार बैठक की है। जयंत चौधरी का कार्यक्रम लगातार कार्यकर्ता मांग रहे हैं। वहीं, भाजपा जिलाध्यक्ष ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की बैठक के लिए पत्र भेजा है।

गौतमबुद्ध नगर में भी इंतजार

गौतमबुद्धनगर में भी अन्य पार्टियां प्रचार के मामले में भाजपा से पिछड़ती दिख रही हैं। कांग्रेस के प्रत्याशियों के समर्थन में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जिले की तीनों विधान सभा सीटों पर उतारे गए प्रत्याशियों के समर्थन में डोर-टू-डोर संपर्क कर चुके हैं। वहीं सपा और बसपा की तरफ से अभी कोई स्टार प्रचारक के तौर पर मैदान में नहीं आया है। कांग्रेस के महानगर प्रवक्ता पवन शर्मा ने बताया कि सूची जारी हो चुकी है, जल्द ही प्रत्याशियों के समर्थन में प्रचारक मैदान में उतरेंगे। वहीं सपा महानगर प्रवक्ता गौरव यादव का कहना है कि 30 स्टार प्रचारकों की सूची जारी हो चुकी है, जल्द ही प्रचार को तेज किया जाएगा। बसपा जिलाध्यक्ष लखमी सिंह का कहना है कि जल्द ही उनकी पार्टी के स्टार प्रचारक लोगों के बीच नजर आएंगे।

ये हैं गौतमबुद्धनगर, गाजियाबाद और हापुड़ की 11 विधानसभा सीटें

  1. नोएडा
  2. दादरी
  3. जेवर
  4. गाजियाबाद
  5. साहिबाबाद
  6. लोनी
  7. मुरादनगर
  8. मोदीनगर
  9. हापुड़
  10. धौलाना
  11. गढ़मुक्तेश्वर

Edited By: Jp Yadav