इंदिरापुरम (गाजियाबाद), जेएनएन। सॉफ्टवेयर कंपनी में कार्यरत गौरव शर्मा की चेकिंग के दौरान नोकझोंक में मौत के मामले में मंगलवार रात इंदिरापुरम थाने में अज्ञात यातायात पुलिसकर्मी के खिलाफ धारा 304ए (उपेक्षापूर्ण कार्य के चलते मृत्यु) के तहत रिपोर्ट दर्ज की गई। देर रात पुलिस परिजन के साथ घटनास्थल भी पहुंची।

इंदिरापुरम का है मामला
मौका मुआयना करने के बाद घटनास्थल इंदिरापुरम थाना क्षेत्र का निकला। मृतक गौरव के परिजन मंगलवार रात करीब नौ बजे इंदिरापुरम थाने पहुंचे। इंदिरापुरम थाना प्रभारी निरीक्षक दीपक शर्मा ने बताया कि पीड़ित पिता मूलचंद शर्मा का आरोप है कि यातायात पुलिसकर्मी (सफेद शर्ट व नीली पैंट पहने) ने कार पर डंडा मारकर रुकवाया। इस बात को लेकर गौरव की उससे नोकझोंक हुई।

इसी दौरान पड़ा दिल का दौरा
इस दौरान उनके बेटे को दिल का दौरा पड़ गया। अस्पताल में उनकी मौत हो गई। मूलचंद का आरोप है कि यातायात पुलिसकर्मी यदि समय से गौरव को उपचार के लिए अस्पताल ले जाता तो शायद उसकी जान बच जाती। मूलचंद की तहरीर पर इंदिरापुरम थाने में रिपोर्ट दर्ज हुई है।

पिता से जगह की पहचान कराई
इंदिरापुरम थाने में रिपोर्ट दर्ज होने के बाद पुलिस मूलचंद को लेकर घटनास्थल पर गई। पुलिस ने उनसे घटनास्थल की पहचान कराई। पीड़ित ने राष्ट्रीय राजमार्ग-नौ पर सीआइएसएफ कट के पास घटनास्थल बताया। पुलिस अधीक्षक नगर श्लोक कुमार ने बताया कि पीड़ित ने घटना के जिस स्थान की पहचान की है, वह गाजियाबाद के इंदिरापुरम थाना क्षेत्र में आता है।

यह है मामला
नोएडा सेक्टर-52 निवासी गौरव शर्मा रविवार को अपने पिता मूलचंद शर्मा और मां के साथ कार से इंदिरापुरम जा रहे थे। आरोप है कि एनएच-नौ पर वाहन चेकिंग के दौरान यातायात पुलिसकर्मी से नोकझोंक हुई। इसी दौरान उन्हें दिल का दौरा पड़ गया।

दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्‍लिक

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस