गाजियाबाद [शाहनवाज अली]। दिल्ली से सटे गाजियाबाद में भी कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर में संक्रमण पर लगभग काबू पा लिया गया है। प्रदेश भर के सभी जिलों से लॉकडाउन समाप्त हो चुका है। ऐसे में बैक्वट हाल, टेंट, कैटर्स आदि से जुड़े व्यापारियों ने विवाह समारोह बंद हॉल में आयोजन होने पर 100 और खुले में आयोजित होने वाले समारोह में 200 लोगों को शामिल होने की अनुमति देने की मांग की है।

उत्तर प्रदेश टेंट व्यापारी एसोसिएशन ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर कोरोना संक्रमणकाल में व्यापार की बुरी स्थिति के बारे में अवगत कराया है। एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष अशोक चावला व महामंत्री रमाकांत तिवारी ने कहा कि सभी बाजार सुबह सात से शाम सात बजे तक खुल गए हैं। टेंट व्यवसाय, फार्म हाउस, बैंक्वट हाल, मैरिज लॉन, कैटरर्स व इससे जुड़े कार्य शुभ मुहूर्त के अनुसार साल भर में 60 से 70 दिन होते हैं।

गत वर्ष मार्च 2020 से अभी तक कोविड-19 महामारी पर अंकुश लगाने के लिए लॉकडाउन के चलते कुछ दिन को छोड़ व्यापार बंद रहा। इस व्यवसाय से जुड़े व्यापारियों की स्थिति दयनीय है। विपरीत परिस्थितियों में जून व जुलाई माह में केवल आठ से 10 दिन शुभ मुहूर्त हैं।

इसके पश्चात देव शयनी एकादशी से देव उठावनी एकादशी तक देव सो जाने के कारण अथार्त 20 जुलाई 2021 से 13 नवंबर 2021 तक 04 माह तक शादी व अन्य समारोह नहीं हो पाने के कारण काम नहीं होंगे। ऐसे में शादी व अन्य समारोह में एक साथ कवर्ड एरिया में 100 और खुले क्षेत्र में 200 व्यक्तियों के शामिल होने की अनुमति प्रदान करें। वहीं, नगर निगम, नगर पालिका व नगर पंचायत द्वारा कमर्शियल टैक्स व औद्योगिक टैक्स एक अप्रैल 2021 से 31 मार्च 2022 तक एक वर्ष तक के लिए माफ करने की मांग की। उन्होंने वाणिज्य विद्युत कनेक्शन के बिजली बिलों में छह माह के लिए फिक्स चार्ज, न्यूनतम चार्ज, इलेक्ट्रिसिटी चार्ज व ब्याज माफ करने की भी मांग की। ताकि व्यापार पटरी पर आ सके।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप