गाजियाबाद, जेएनएन। नोटबंदी को तीन साल होने को हैं, लेकिन पुराने नोटों के मिलने का सिलसिला जारी है। शनिवार कार सवार दो युवक सुबह पटेलनगर स्थित नाले में 500 और 1000 के पुराने नोट फेंक गए। देखते ही मौके पर भीड़ इकट्ठी हो गई और लोगों में नोट निकालने की होड़ मच गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने करीब 15 मिनट तक नाले से नोट निकलवाए और फिर लोगों को समझा-बुझाकर नोट वापस लिए।

फेंकने वाले का कोई सुराग नहीं
पुलिस के मुताबिक 36 हजार रुपये मूल्य के पुराने नोट मिले हैं। हालांकि फेंकने वाले का कोई सुराग नहीं मिल पाया है। एसएचओ सिहानी गेट उमेश बहादुर सिंह ने बताया कि शनिवार सुबह आठ बजे सूचना मिली थी कि नाले में पुराने नोट पड़े हैं, जिन्हें निकालने के लिए काफी लोग भी इकट्ठे हैं।

नाले में तैर रहे थे नोट
पटेलनगर चौकी प्रभारी मनीष चौधरी को मौके पर भेजा तो नाले में नोट तैरते मिले। कुछ लोगों ने नोट निकाल भी लिए थे। कोई नाले में उतरकर तो कोई लकड़ी की मदद से नोट निकाल रहा था। चौकी प्रभारी मनीष ने बताया कि लोगों को समझाकर नोट वापस ले लिए गए हैं। लोगों की मदद से 500 के 42 नोट और 1000 के 15 नोट नाले से निकाले गए हैं।

कौन थे कारसवार
पुलिस ने नोटों को सील कर अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है। पुलिस के मुताबिक नोट को क्लेम करने के लिए कोई नहीं आया है। पुलिस ने मौके पर मौजूद 16 लोगों के हस्ताक्षर भी कराए हैं। वहीं प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक सुबह साढ़े सात बजे के करीब बिना नंबर की एक गाड़ी सेवानगर के सामने आकर रुकी।

पॉलिथीन में भर कर फेंका नोट
इसमें से दो लोग निकले और पॉलिथीन में रखे नोट नाले में फेंककर फरार हो गए। पुलिस के पहुंचने से पहले कई लोग नोट लेकर घर भी चले गए। सीओ सिटी सेकेंड आतिश कुमार सिंह ने बताया कि लोगों ने नोट डालने वालों के नाम नहीं बताए हैं।

दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्‍लिक 

Posted By: Prateek Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप