गाजियाबाद [अभिषेक सिंह]। समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव के साथ संयुक्त पत्रकार वार्ता में राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष जयंत चौधरी ने कहा कि किसान आंदोलन के दौरान लोनी के भाजपा विधायक के कार्य को कोई भुला नहीं पाएंगा। गाजियाबाद में पीसी में उन्होंने कहा कि आज 29 जनवरी है और बीती रात 28 जनवरी से एक साल पहले जो किसानों ने देखा और सहन किया वह सिर्फ उनका नहीं बल्कि सभी किसानों का अपमान था। इस दौरान उन्होंने कहा कि लोनी के भाजपा विधायक के कार्य को कोई भुला नहीं पाएगा। इसके साथ ही जयंत चौधरी ने यह भी कहा कि एक तरफ वह सरकार है जो किसानों को दबाती है, और दूसरी तरफ विकास करने वाली सरकार होगी। अब युवाओं को तय करना है एक तरफ लाठी से मारने वाली सरकार है तो दूसरी ओर विकास करने वाली सरकार होगी। हमें जिन्ना और औरंगजेब से कोई लेना देना नहीं है। पढ़े लिखे लोग हैं, तरक्की और विकास की भाषा बोलते हैं। जयंत चौधरी ने कहा कि वह गाजियाबाद की उम्मीदों पर खरे उतरेंगे। शहर की सड़कों को गड्ढे करेंगे और झूठ मुक्त सरकार देंगे।

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के प्रथम चरण में कुल 58 सीटों पर आगामी 10 फरवरी को मतदान होना है। ऐसे में चुनाव प्रचार के लिए विभिन्न राजनीतिक दलों के पास एक सप्ताह का ही समय बचा है। ऐसे में पश्चिमी उत्तर प्रदेश में राजनीतिक दलों के दिग्गज नेताओं ने मोर्चा संभाल लिया है। इसी कड़ी में सपा

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के लिए बिगुल बज चुका है। आगामी 10 फरवरी को गौतमबुद्धनगर, गाजियाबाद और हापुड़ की 11 सीटों समेत पश्चिमी उत्तर प्रदेश की 58 सीटों पर मतदान होगा।

ये हैं गौतमबुद्धगर, हापुड़ और गाजियाबाद की 11 विधानसभा सीटें

  • नोएडा
  • दादरी
  • जेवर
  • हापुड़
  • धौलाना
  • गढ़मुक्तेश्वर
  • गाजियाबाद
  • साहिबाबाद
  • लोनी
  • मुरादनगर
  • मोदीनगर

बता दें कि इन सीटों में तकरीबन सभी सीटों पर भारतीय जनता पार्टी का कब्जा है। इस बार यूपी में समाजवादी पार्टी और राष्ट्रीय लोकदल गठबंधन के तहत चुनाव लड़ रहे हैं।

Edited By: Jp Yadav