गाजियाबाद, जागरण संवाददाता। चालान से बचने को हल्का हेलमेट पहने युवक ट्रक की टक्कर लगने से बाइक से गिर गया। इस कारण हेलमेट दूर जाकर गिरा और ट्रक का पहिया युवक के सिर से गुजर गया और उसकी मौके पर ही मौत हो गई। बाइक पर बैठे युवक के दोस्त को भी गंभीर चोट आई है। हादसा मधुबन बापूधाम क्षेत्र के शाहपुर मोरटा रोड पर 31 जनवरी की रात करीब साढ़े नौ बजे हुआ। शव का पोस्टमार्टम करा पुलिस ट्रक व चालक की पहचान के प्रयास कर रही है।

परिवार का इकलौता सहारा था

मेरठ के काजमाबाद गून में रहने वाले मनोज ने बताया कि भतीजा कपिल (25) एक कंपनी में सफाईकर्मी था। पिता बाबू की मौत के बाद अपनी मां व तीन छोटे भाइयों का इकलौता सहारा था। 31 जनवरी को वह पांच नंबर भट्टा रोड पर रहने वाले रिश्तेदार की बेटी के जन्मदिन की पार्टी में सहकर्मी अभिषेक संग गया था।

रात नौ बजे के बाद दोनों वहां से मेरठ के लिए निकले। कपिल बाइक चला रहा था। मेरठ रोड पर आने से पहले ही एक ट्रक चालक ने तेजी से ओवरटेक किया। संकरे मार्ग के कारण बाइक अनियंत्रित हो गई। कपिल ट्रक की ओर गिरा और ट्रक का पहिया सिर से गुजर गया। सूचना पर पहुंची पुलिस दोनों अस्पताल ले गई। कपिल को चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया और अभिषेक निजी अस्पताल में भर्ती है।

हेलमेट की गुणवत्ता खराब थी

मनोज ने बताया कि वह घटनास्थल पर पहुंचे तो दूर झाड़ी में कपिल का हेलमेट मिला। यह सिर्फ कान के ऊपर के हिस्से को कवर करने वाला हेलमेट था। आशंका है कि गिरने के दौरान ही हेलमेट सिर से हट गया। उसकी बेल्ट भी ढीली थी। एडीसीपी ट्रैफिक रामानंद कुशवाहा का कहना है कि लोग अभी भी कई लोग हेलमेट को चालान से बचने के लिए पहनते हैं। ऐसे में वे हेलमेट की गुणवत्ता पर ध्यान नहीं देते। इसी कारण कई लोगों की जान चली जाती है। इसलिए अच्छी गुणवत्ता वाला हेलमेट ही खरीदें

जागरण सुझाव-

हेलमेट चालान से बचने का नहीं, दो पहिया सवारों की जान बचाने के लिए होता है। इसीलिए आइएसआइ मार्क वाला अच्छी गुणवत्ता का ही खरीदें। यह सिर को पूरी तरह कवर करता हो और बेल्ट ठीक प्रकार बंधी हो ताकि गिरने पर यह खुले नहीं।

Edited By: Abhi Malviya