जागरण संवाददाता, गाजियाबाद। नवरात्र के पहले दिन शहर भर के मंदिरों में पूजा अर्चना के लिए पहुंचे भक्तों की भीड़ रही। बड़े मंदिरों में सुबह चार बजे से ही दर्शन के लिए लाइन लगी रही। मंदिरों में हवन पूजन, अनुष्ठान आदि कार्यक्रम हुए। भक्तों ने घर में कलश स्थापना कर मां शैलपुत्री की पूजा अर्चना कर व्रत रखा। नवरात्र के दूसरे दिन श्रद्धालु मां ब्रह्मचारिणी को प्रसन्न करने के लिए पूजा व व्रत करेंगे। प्राचीन बाला त्रिपुर सुंदरी चतुर्भुजी देवी मंदिर दिल्ली गेट में भी नवरात्र महोत्सव का शुभारंभ हो गया।

पूरे नवरात्र जारी रहेगा अनुष्ठान

प्राचीन श्री बाला त्रिपुर सुंदरी चतुर्भुजी देवी मंदिर दिल्ली गेट के श्रीमहंत गिरिशानंद गिरी ने मां भगवती की विधि-विधान से पूजा अर्चना व आरती की। मुख्य आचार्य राम मनोहर अग्निहोत्री एवं 11 विद्वान आचार्यों द्वारा एवं आचार्य नित्यानंद ने सुबह और शाम अनुष्ठान एवं यज्ञ किया। अनुष्ठान पूरे नवरात्र जारी रहेगा।

मंदिर में भक्तों का लगा जमावड़ा

देवी मंदिर में तीन अक्टूबर को भव्य पंखा शोभायात्रा एवं चार अक्टूबर को भंडारे के साथ नवरात्र महोत्सव का समापन होगा। श्री दूधेश्वरनाथ मंदिर में आचार्य लक्ष्मीकांत पाढी एवं आचार्य अमित शर्मा ने मंदिर परिसर में नवरात्र का अनुष्ठान किया । शिव शक्तिधाम डासना में भी सुबह मां भगवती पूजा व हवन किया गया। मंदिर में भक्तों की भीड़ रही। गोविंदपुरम, शास्त्री नगर, विजय नगर, नेहरू नगर, अशोक नगर, घंटाघर, राजनगर, पटेल नगर आदि जगह मंदिर में भक्तों ने पूजा अर्चना की।

नवरात्र में मीट की दुकान बंद कराने की मांग

नवरात्र में मीट की दुकानें बंद कराने की मांग को लेकर सत्यनगर कालोनी के लोगों ने थाने में शिकायत की है। लोगों का आरोप है कि उनकी कालोनी के पास किदवईनगर में मीट की दुकान के बाहर पशुओं के अवशेष पड़े रहते हैं। इन दुकानों पर नवरात्र में मीट बेचा जा रहा है। हिंदू युवा वाहिनी के जिला महामंत्री नीरज शर्मा का कहना है कि पुलिस-प्रशासन को इसपर तत्काल संज्ञान लेना चाहिए। लोगों का आरोप है कि सभासद से भी कई बार इस बारे में कहा गया है। लेकिन, कोई कार्रवाई नहीं हुई। इसलिए पुलिस से गुहार लगाई है।

सीकरी खुर्द स्थित महामाया देवी मंदिर में उमड़ा श्रद्धालुओं का सैलाब

सोमवार को नवरात्र पूजा शुरू होते ही श्रद्धालुओं ने घरों में घटस्थापना कर विधि-विधान से मां शैलपुत्री की पूजा की। इसके अलावा सीकरी खुर्द स्थित महामाया देवी मंदिर में भी माता का आशीर्वाद लेने के लिए श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ पड़ा। तड़के से ही मंदिर में दर्शन करने के लिए भीड़ जुटने शुरू हो गई थी। कतार में खड़े श्रद्धालुओं को दरबार तक पहुंचने में एक घंटे से भी ज्यादा का वक्त लगा। इस दौरान सुरक्षा के लिए व्यापक इंतजाम रहे।

सीसीटीवी से की जा रही है निगरानी

पुलिस प्रशासनिक अधिकारियों ने भी मंदिर की सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। बैरिकेडिंग के अलावा सीसीटीवी कैमरों की निगरानी के लिए अलग से व्यवस्था की गई। मंदिर परिसर में सादे लिबास में भी पुलिस कर्मियों की तैनाती की गई है।

श्रद्धालुओं ने की खरीदारी

माता के दर्शन करने के बाद श्रद्धालुओं ने बाहर लगी दुकानों पर जमकर खरीदारी भी की। इसके अलावा गांव गली मोहल्ले के बड़े मंदिरों में भी श्रद्धालुओं ने मां की पूजा कर आशीर्वाद प्राप्त किया। पूजन सामग्री खरीदने को लेकर भी सुबह के वक्त बाजार में मारामारी देखने को मिली। पूजा के लिए फूल, आम पत्र आदि पर दोगुनी महंगाई थी। कई दुकानदारों की फूल माला समय से पहले ही बिक गयी। हालत यह थी कि 10 रुपये की फूल माला 40 रुपये में बिकी। फूल माला विक्रेताओं ने जमकर अपनी चांदी काटी। एसडीएम शुभांगी शुक्ला ने बताया कि मंदिर में श्रद्धालुओं को किसी भी प्रकार की समस्या नहीं होने दी जाएगी। लगातार निगरानी की जा रही है।

यह भी पढ़ें- महाभारत युद्ध से पहले पांडव के साथ यहां रुके थे भगवान श्रीकृष्‍ण, अपने हाथों से तैयार की थी माता की मूर्ति

यह भी पढ़ें- शारदीय नवरात्र में रोजाना करें दुर्गा स्तुति का पाठ, देवी मां की कृपा से होगी हर इच्छा पूरी

Edited By: Sonu Gupta

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट