गाजियाबाद, जागरण संवाददाता। क्रॉसिंग रिपब्लिक की महागुन मैस्कट सोसायटी में इंजीनियर के सातवीं मंजिल से कूदकर आत्महत्या के मामले में राजस्थान के एक बाबा के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। बताया जाता है कि नाश्ता करते समय इंजीनियर अचानक उठा और गुरु बाबा से मिलना है कहकर सातवीं मंजिल से छलांग लगा दी थी। पुलिस इंजीनियर की कॉल डिटेल्स व अन्य साक्ष्यों के आधार पर मामले की जांच कर रही है।

बता दें कि 27 वर्षीय इंजीनियर स्वप्निल सिंह ने 20 अगस्त की सुबह सातवीं मंजिल स्थित अपने फ्लैट की बालकनी से छलांग लगा दी थी। स्वप्निल के पिता कृष्ण नंदन की ओर से विजयनगर थाने में दर्ज कराई गई एफआइआर में बताया कि उनका बेटा नोएडा की कंपनी में सॉफ्टवेयर इंजीनियर था। वह मां कमल देवी के साथ रहता था। पिता के मुताबिक उनका बेटा कुछ दिन से यूट्यूब पर किसी गुरु मनोज के प्रवचन सुनने लगा था। मार्च-2019 में वह हरिद्वार में कथित गुरु से मिलने भी गया था।

बाबा पर ब्रेन वॉश करने का आरोप

आरोप है कि गुरु ने उसका ब्रेन वॉश कर दिया। हरिद्वार से लौटकर वह शाकाहारी बन गया और प्याज व लहसुन भी छोड़ दिया। पिता के मुताबिक वह खुद को कमरे में बंद कर घंटों तक उक्त गुरु से फोन पर बातचीत करता रहता था। हादसे के दिन भी वह ब्रेकफास्ट के दौरान उठा और बाबा से मिलना है, कहकर बालकनी से छलांग लगा दी। एसएचओ विजयनगर श्यामवीर सिंह ने बताया कि आत्महत्या के लिए उकसाने की धाराओं में बाबा के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गहरा आघात से मौत की वजह बताई गई

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत का कारण शॉक (गहरा आघात) और हैमरेज बताया गया था। शुरुआती जांच में पता चला था कि इंजीनियर किसी बाबा (संत) के बारे में परिजनों और दोस्तों से बात करता था। मृतक युवक अपने मां-बाप का इकलौता संतान था। इंजीनियर स्वप्निल सिंह अपने माता-पिता के साथ महागुन मैस्कट के एवलॉन टॉवर के सातवें प्लोर पर रहा था। वह नोएडा के सेक्टर 63 स्थित एक कंपनी में बतौर इंजीनियर कार्य करता था।

ये भी पढ़ेंः अयोध्या मामले पर असदुद्दीन ओवैसी को टिप्पणी करना पड़ सकता है भारी, SSP से शिकायत

 दिल्ली-एनसीआर की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

Posted By: Mangal Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप