जागरण संवाददाता, साहिबाबाद : नैना की हत्या तुलसी निकेतन पुलिस चौकी और सील भोपुरा सीमा से करीब दो सौ मीटर की दूरी पर हुई है। इससे पुलिस की सुरक्षा-व्यवस्था की पूरी तरह से पोल खुल गई है। हालांकि हत्या होने के बाद पुलिस हरकत में आई और दो युवकों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। आरोपित पर 20 हजार रुपये का इनाम घोषित किया है। सीमा सील होने का दावा फेल : कोरोना वायरस के चलते गाजियाबाद-दिल्ली की सीमाएं सील होने का जिला प्रशासन की ओर से दावा किया जा रहा है। बुधवार को दिल्ली निवासी आरोपित शाहरुख चाकू के साथ तुलसी निकेतन आकर नैना की हत्या कर फरार हो जाता है। लोगों ने सवाल किए है कि यदि सील सीमाओं पर सही तरह से जांच-पड़ताल की जाती, तो आरोपित घटना से पहले पकड़ा जा सकता था लेकिन ऐसा नहीं हुआ है। शिकायत का नहीं लिया संज्ञान : तुलसी निकेतन आरडब्ल्यूए ने 13 जून को स्थानीय लोगों की ओर से तुलसी निकेतन पुलिस चौकी में एक शिकायत पत्र दिया था। लोगों की ओर से पुलिस को अवगत कराया गया कि सीमाएं सील होने के बावजूद दिल्ली की सुंदर नगरी, सीमापुरी, हर्ष विहार, मंडोली से बड़ी संख्या में अराजकतत्व यहां आते हैं। यहां पार्को व गलियों में नशा करते हैं। उनकी हरकतों से लोग परेशान हैं। उन पर अंकुश लगाने के लिए पुलिस का गश्त बढ़ाना चाहिए। लोगों ने कहा कि यदि पुलिस ने उस शिकायती पत्र को संज्ञान में लेकर गश्त बढ़ा देती और सीमाओं पर कड़ी नजर रखती, तो शायद नैना की हत्या न होती। अपराधी किस्म का है आरोपित : लोगों ने बताया है कि शाहरुख अपराधी किस्म का है। उसने टिकटॉक पर कई वीडियो भी डाल रखे है। वह भी खलनायक आदि पर आधारित हैं। इससे उसकी मानसिकता का पता चलता है। पुलिस की टीमें लगीं : आरोपित शाहरुख पर पुलिस ने 20 हजार रुपये का इनाम घोषित किया है। उसकी गिरफ्तारी के लिए दो टीमें पुलिस क्षेत्राधिकारी साहिबाबाद केशव कुमार व पुलिस क्षेत्राधिकारी प्रथम डॉ. राकेश कुमार मिश्र के नेतृत्व में लगी हैं। क्राइम ब्रांच भी काम कर रही हैं। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी ने बताया है कि सर्विलांस की मदद से हत्या में शाहरुख का सहयोग करने वाले आसिज उर्फ आशिक निवासी जवाहर पार्क व आमिर चौधरी निवासी सुंदर नगरी को हिरासत में लिया गया है।

Edited By: Jagran