जासं, गाजियाबाद : ऊधमसिंह नगर (उत्तराखंड) से आए दो किशोर गाजियाबाद जंक्शन पर जहरखुरानी का शिकार हो गए, जिसके बाद से एक का पता नहीं चल पा रहा है। नगर कोतवाली पुलिस ने नशीला पदार्थ खिलाने और अपहरण की धारा में रिपोर्ट दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। वहीं परिजनों का कहना है कि पंजाब से उसने घर पर फोन किया है। परिजन उसे लेने के लिए गए हैं।

रामपुर के बिलासपुर निवासी 17 वर्षीय विराज शर्मा ऊधमसिंह नगर के दिनेशपुर में अपने मामा के घर रहता है। पड़ोस में रहने वाला नौवीं का छात्र शुभम उसका दोस्त है। 11वीं पास विराज एक एजेंसी में काम सीखता है। नौकरी के लिए गाजियाबाद के राजनगर में उसे इंटरव्यू के लिए भेजा गया था। वह शुभम को भी अपने साथ लेकर 17 जुलाई को गाजियाबाद पहुंचा। इंटरव्यू के बाद दोनों गाजियाबाद जंक्शन के प्लेटफार्म 1-2 पर ट्रेन का इंतजार करने लगे। इसी दौरान दो युवक आए और कहा कि वे भी ऊधमसिंह नगर जा रहे हैं। अपनी बातों में फंसाकर आरोपित दोनों को बाहर ले आए और बिस्किट खिलाया। विराज के बिस्किट खाने के बाद उसे 18 जुलाई को होश आया तो वह डासना में आइएमएस कालेज के पास पड़ा हुआ था, जबकि शुभम का पता नहीं चला। आटो वाले का मोबाइल लेकर उसने घर पर सूचना दी। परिजन आए और उसे घर ले गए। वहां दिनेशपुर थाने में शिकायत दी तो उन्होंने मामला गाजियाबाद का बताते हुए टाल दिया। 19 जुलाई को परिजन आए और गाजियाबाद जीआरपी को शिकायत दी। वहां भी सुनवाई नहीं हुई तो नगर कोतवाली पहुंचे। विराज के मुताबिक उसके पास दो व शुभम के पास एक मोबाइल के अलावा कुछ रुपये व कपड़े आदि समेत बैग भी था। खाने में नशीला पदार्थ देने वाले उनसे सामान भी लूट ले गए।

नगर कोतवाल लक्ष्मण वर्मा ने बताया कि तहरीर के आधार पर रिपोर्ट दर्ज कर शुभम की तलाश की जा रही है। परिजनों का कहना है कि शुभम ने सोमवार को फोन कर अपने पंजाब में होने की बात बताई है। उसे बरामद करने के लिए परिजनों संग पुलिस टीम को भेजा गया है। बजरिया और स्टेशन के आसपास क्षेत्र में लगे सीसीटीवी कैमरे खंगाले जा रहे हैं। फुटेज के आधार पर आरोपितों की पहचान कर गिरफ्तारी की जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस