जागरण संवाददाता, गाजियाबाद: दो किशोरियों को तलाशने के लिए गाय बिकवाकर खर्च कराने के आरोपित दारोगा लव कुमार को एसएसपी ने निलंबित कर दिया है। उसके खिलाफ विभागीय जांच भी बैठाई है। मामला थाना लोनी बार्डर का है। इसमें दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधन समिति के अध्यक्ष मनजिदर सिंह सिरसा ने यूपी पुलिस को ट्वीट किया था। मामला पुलिस मुख्यालय तक पहुंचा था। एसएसपी अमित पाठक ने बताया कि लोनी तिराहा चौकी पर तैनात दारोगा लव कुमार को निलंबित किया है। विभागीय जांच भी शुरू है। इसके आधार पर आगे की कार्रवाई होगी।

रिश्वतखोरी के मामले में गाजियाबाद पुलिस पर अजब-गजब आरोप लगते रहे हैं। कभी दारोगा के आनलाइन रिश्वत लेने के तो कभी लाकडाउन में होटल खुलवाकर हजारों रुपये का निश्शुल्क खाना खाने का। ताजा मामले में किशोरियों को तलाशने के लिए उत्तराखंड जाने का खर्च पीड़ित पिता से कराने का मामला सामने आया है। इसके लिए पीड़ित को अपनी दोनों गाय बेचनी पड़ीं। दरअसल, लोनी क्षेत्र में रहने वाली दोनों किशोरी 30 जून को संदिग्ध हालात में लापता हो गई थीं। पेशे से चालक पिता ने शिकायत की, जिसके बाद विवेचक लव कुमार ने बताया कि किशोरियों की लोकेशन उत्तराखंड में मिली है। वहां चलने की तैयारी कर लो। आरोप है कि लग्जरी कार, खाना व होटल में रुकने का खर्च बताया गया। बेटियों की खातिर पीड़ित ने अपनी दोनों गाय 43 हजार रुपये में बेच दीं। कार की व्यवस्था कर पुलिस टीम के साथ गए, मगर बेटियों का पता नहीं चला। इसमें उनके 15 हजार रुपये खर्च हो गए। एसएसपी ने बताया कि आरोपों का संज्ञान लेकर जांच कराई गई थी। प्रथम²ष्टया आरोप सही मिले। इस पर दारोगा लव कुमार को निलंबित कर दिया है। एडिशनल एसपी को विभागीय जांच दी जाएगी। इसकी रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की संस्तुति कर मुख्यालय रिपोर्ट भेजेंगे।

Edited By: Jagran