जागरण संवाददाता, साहिबाबाद : इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट एजुकेशन, जीटी रोड साहिबाबाद के विधि चतुर्थ वर्ष (बीएएलएलबी) के छात्र पंकज सिंह की गिरधर एंक्लेव में हुई सनसनीखेज हत्या का सोमवार को पुलिस ने राजफाश कर दिया। मामले में प्रेमिका मां-बाप सहित गिरफ्तार हुई है।

पुलिस क्षेत्राधिकारी साहिबाबाद डॉ. राकेश कुमार मिश्र ने बताया कि पंकज सिंह की हत्या के राजफाश में लगी पुलिस ने सोमवार सुबह साहिबाबाद रेलवे स्टेशन से आरोपित पूर्व मकान मालिक मुन्ना उर्फ हरिओम, उसकी पत्नी सुलेखा देवी व बेटी अंकिता को गिरफ्तार किया। पूछताछ में आरोपितों ने बताया कि पंकज पढ़ाई के साथ ट्यूशन भी देता था। अंकिता भी पंकज से ट्यूशन लेती थी। इस बीच अंकिता व पंकज की दोस्ती हो गई। पंकज झांसा देकर अंकिता से शारीरिक संबंध भी बनाने लगा। इसकी अंकिता के स्वजनों को भनक लग गई। मुन्ना ने बेटी अंकिता को भरोसे में लेकर पंकज की हत्या की साजिश रची। इसके तहत बेसमेंट में गहरा गड्ढा खोद लिया। नौ अक्टूबर की सुबह करीब 10 बजे अंकिता ने पंकज को घर पर किसी के न होने का झांसा देकर बुला लिया। घर के बाथरूम में पहले से मुन्ना व सुलेखा छिपी थी। पंकज के आते ही अंकिता ने अंदर से दरवाजा बंद कर लिया। बाथरूम में छिपे मुन्ना व सुलेखा बाहर आ गईं। पंकज का हाथ और पैर रस्सियों से बांध दिया। तीनों ने मिलकर गला दबाकर पंकज की हत्या कर दी। शव बेसमेंट में पहले से खोदे गए गड्ढे में दबा दिया। ऊपर से जमीन पर प्लास्टर कर फर्श बना दिया। पुलिस की जांच-पड़ताल होते देख घर में ताला बंद कर फरार हो गए। डॉ. राकेश मिश्र ने बताया कि तीनों आरोपितों को जेल भेज दिया गया।

--------

भाग कर बिहार गए थे आरोपित : मुन्ना मूल रूप से ग्राम व पोस्ट गोनावा थाना हरनौत जिला नालंदा बिहार का रहने वाला है। पंकज की हत्या कर वह परिवार सहित बिहार भाग गया था। साहिबाबाद पुलिस उसे गिरफ्तार करने बिहार गई थी। कई दिन डेरा डालने के बाद खाली हाथ वापस आ गई थी। दिवाली के बाद मुन्ना ने गाजीपुर में किराये का मकान लेकर परिवार वालों के साथ रहने लगा था। पंकज का मोबाइल उसने गाजीपुर के एक बड़े नाले में फेंक दिया था। वह मोबाइल पुलिस को बरामद नहीं हुई। थाना प्रभारी निरीक्षक जितेंद्र सिंह ने बताया है कि मामले में मुन्ना का बड़ा बेटा भी आरोपित है लेकिन अब तक उसकी व छोटी बेटी की भूमिका सामने नहीं आई है। विवेचना जारी है यदि उनकी भूमिका मिलती है, तो कार्रवाई की जाएगी।

-------

यह है मामला : मूल रुप से ग्राम फिरोजपुर कान्ही थाना चितबड़ागांव जिला बलिया निवासी पंकज सिंह 30 वर्ष आइएमई, जीटी रोड में विधि चतुर्थ वर्ष (बीएएलएलबी) के छात्र थे। नौ अक्टूबर को वह लापता हो गए थे। 14 अक्टूबर को उनका शव पूर्व मकान मालिक मुन्ना उर्फ हरिओम के मकान के बेसमेंट में फर्श के छह फीट नीचे से बरामद हुई थी। मामले में मुन्ना उर्फ हरिओम, उसकी पत्नी, दो बेटियों व बड़े बेटे के खिलाफ साहिबाबाद थाना में रिपोर्ट दर्ज हुई थी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप