जागरण संवाददाता, गाजियाबाद : गढ़ी गांव में दो मई को राजू कुमार(42) की चाकू से गोदकर हत्या के मामले में पुलिस ने आरोपित हनीष गोस्वामी उर्फ हनी उर्फ कल्लू व उसकी मां कुसुम को गिरफ्तार छह दिन बाद गिरफ्तार कर लिया। आरोपित बुधवार सुबह कोर्ट में सरेंडर करने के लिए जा रहा था। सूचना के आधार पर पुलिस ने कचहरी परिसर के नजदीक से दोनों को दबोच लिया। पुलिस ने उसकी निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त चाकू व उस दौरान पहले खून में सने कपड़े भी बरामद कर लिए हैं। बोला, बात करने गया था

गढ़ी निवासी राजू कुमार ने बड़ी बेटी की शादी 17 मई की तय की थी। पड़ोस में रहने वाला हनी उनकी बेटी से शादी का दबाव बना रहा था। मगर उसकी बिगड़ी आदतों की वजह से वह इससे सहमत नहीं थे। आरोपित से भय के कारण चार माह से उन्होंने अपना परिवार मेरठ में शिफ्ट कर दिया था। बेटे से शादी कराने को लेकर हनी की मां कुसुम ने भी राजू को जातिसूचक शब्द कहे थे। दो मई को वह शादी के कार्ड बांटने के बाद गढ़ी गांव के घर में आकर लेटे थे। लाइट जाने पर उन्होंने घर का गेट खोल दिया और कुछ देर बाद ही आरोपित अपनी मां कुसुम के साथ राजू के घर पहुंचा। पुलिस पूछताछ में हनी ने बताया कि वह उनकी बेटी का पता पूछा ही था कि उन्होंने फोन निकाल लिया। इसी दौरान चाकू से उन पर वार कर दिया। सीसीटीवी फुटेज में दिखी बर्बरता

सीओ सिटी सेकेंड आतिश कुमार सिंह ने बताया कि पुलिस को घटनास्थल के पास से एक कैमरे का फुटेज मिला था। फुटेज में साफ दिख रहा है कि वह राजू को दौड़ाते हुए लगातार चाकू से वार कर रहा है। यह फुटेज ही हनी के खिलाफ अहम साक्ष्य होगी। गिरफ्तारी के बाद हनी ने खुद को नाबालिग बताया। उसने बताया कि 12वीं में फेल होने के बाद ओपन से 12वीं की थी और इस बार उसने बीकॉम प्रथम वर्ष की परीक्षा दी थी। हालांकि पुलिस के मुताबिक वह 19 साल का है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस