गाजियाबाद, जागरण संवाददाता। कौशांबी थाना क्षेत्र के वैशाली सेक्टर-चार में हुई अधेड़ व्यक्ति की हत्या में पुलिस को अहम सुराग मिले हैं। उससे साबित हो रहा है कि गोद ली गई 14 वर्षीय बेटी ने दोस्ती में बाधा बनने पर पुरुष दोस्त के साथ मिलकर वारदात को अंजाम दिया है। पुलिस दोनों की तलाश कर रही है।

पुलिस अधीक्षक नगर द्वितीय ज्ञानेंद्र सिंह ने बताया कि मृतक अनिल सक्सेना की पत्नी पिंकी सक्सेना ने गोद ली गई बेटी पर पति की हत्या करने की आशंका जाहिर करते हुए तहरीर दी। उसके आधार पर हत्या की धारा में रिपोर्ट दर्ज की गई। मामले की छानबीन की जा रही है।

ये भी पढ़ें- आईटी हब कहे जाने वाले 24 घंटे की बरसात से नोएडा-गुरुग्राम बेहाल, जलभराव और ट्रैफिक जाम ने व्यवस्था की खोल दी पोल

कुछ मिले अहम सुराग

इलेक्ट्रानिक और अन्य साक्ष्य एकत्र किए जा रहे हैं। मामले में काफी महत्वपूर्ण सुराग मिले हैं। उस पर काम किया जा रहा है। उम्मीद है कि जल्द ही मामले का राजफाश हो जाएगा।

सात दिन की थी तब लिया था गोद

पुलिस की जांच में आया है कि मृतक ने बरेली से कानूनी तौर पर किशोरी को गोद लिया था। उस समय वह सात दिन की थी। करीब 14 साल से उसे बड़े लाड-प्यार से पाल रहे थे। उसका अच्छे स्कूल में दाखिला कराया था। वह इस समय सातवीं कक्षा की छात्रा है। उसके भविष्य को लेकर तरह-तरह के सपने संजोए थे।

ये भी पढ़ें- Delhi: बेटी की शादी के उधार लिए रुपये नहीं लौटाने पर जिंदा जलाया, 80 प्रतिशत जला शरीर

उन्होंने यह सपने में भी नहीं सोचा होगा कि जिस बच्ची को बुढ़ापे की लाठी समझकर पाल पोस कर बड़ा कर रहे हैं वही उन्हें मौत के घाट उतार देगी। इस वारदात ने लोगों को झकझोर कर रख दिया है।

नासिक से आया दोस्त

पुलिस के विश्वसनीय सूत्रों ने बताया कि मृतक द्वारा गोद ली गई बेटी की करीब तीन माह पहले इंटरनेट मीडिया पर नासिक के एक युवक से जान-पहचान हुई थी। दोनों मैसेंजर पर बात करने लगे थे। उनकी दोस्ती हो गई थी। उनकी चैटिंग मिली है। उसमें युवक ने यहां आने की बात लिखी है। उसका अंतिम लोकेशन भी यहां मिला है।

उसके मुताबिक बृहस्पतिवार सुबह 11 बजे वह यहां आ गया था। उसके बाद से उसका मोबाइल बंद है। पुलिस मान रही है कि वह किशोरी के घर गया होगा। मृतक ने इसका विरोध किया होगा। दोनों ने उसका हाथ-पैर बांधकर गला दबा दिया होगा।

सीसीटीवी में दोनों भागते दिखे

पुलिस को सीसीटीवी कैमरे की फुटेज मिली है। उसमें दिख रहा है कि बृहस्पतिवार शाम पांच बजकर 10 मिनट पर एक युवक सीढ़ियों से नीचे उतर रहा है। उसके पीछे मृतक की गोद ली गई बेटी पीठ पर बैग टांगकर पीछे-पीछे उतर रही है। पुलिस रास्तों में लगे सीसीटीवी कैमरों को खंगाल रही है। यह मान रही है कि दोनों वारदात को अंजाम देकर एक साथ कहीं भाग गए हैं। उनकी तलाश में तीन टीमें लगी हैं।

ये भी पढ़ें- हाई कोर्ट पहुंचा फरीदाबाद नगर निगम का 200 करोड़ का घोटाला, बिना काम के 6 साल में ठेकेदार को भेजे करोड़ों रुपये

यह है मामला

कौशांबी थाना क्षेत्र के वैशाली सेक्टर-चार में 58 वर्षीय अनिल सक्सेना पत्नी पिंकी सक्सेना व गोदी ली गई 14 वर्षीय बेटी के साथ रहते थे। वह गंभीर बीमारी से पीड़ित थे। उनकी पत्नी दिल्ली के मलेरिया विभाग में तैनात हैं। बृहस्पतिवार को फ्लैट में उनकी हत्या कर दी गई। वारदात के समय उनकी पत्नी अपने कार्यालय गई थीं। उनकी पत्नी ने गोद ली गई 14 वर्षीय बेटी पर हत्या करने की आशंका जाहिर की है। वह वारदात के बाद से फरार है।

Edited By: Geetarjun