जागरण संवाददाता, गाजियाबाद : 'एक जनपद एक उत्पाद' समिट में जनपद को मैकेनिकल इंजीनिय¨रग में उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने खजाने का मुंह खोल दिया है। सरकार की कैबिनेट मी¨टग में गत मंगलवार को उद्योगों के लिए एक करोड़ के ऋण पर सब्सिडी योजना को मंजूरी दे दी है। इसमें एक लाख से लेकर एक करोड़ रुपये से ज्यादा के ऋण पर सब्सिडी के स्लैब बनाये जा रहे हैं, जिसका नये उद्योग लगाने के लिए उद्यमियों को मदद मिलेगी।

यह जानकारी देते हुए जीएम डीआइसी बीरेंद्र कुमार ने बताया कि सरकार की अलग-अलग योजनाओं के तहत उद्योगपतियों ने बैंक से सब्सिडी के माध्यम से लोन दिलाया जा रहा है। यूपी समिट में जनपद के उद्यमियों ने करीब तीन हजार करोड़ रुपये के प्रोजेक्ट दाखिल किये थे। इनमें से 1100 करोड़ के प्रोजेक्ट जमीन पर दिखने लगे हैं, जिनमें 800 करोड़ के हाउ¨सग व 300 करोड़ रुपये के इंडस्ट्रीज से जुड़े प्रोजेक्ट शामिल हैं, जिनसे करीब 1000 लोगों को रोजगार मिलने की उम्मीद है। इसी क्रम में सरकार ने प्रदेश में उद्योग जगत को बढ़ावा देने व रोजगार के नये अवसर बढ़ाने के लिए केबिनेट की बैठक में ओडीओपी योजना के तहत एक लाख से एक करोड़ रुपये के ऋण पर सब्सिडी को मंजूरी दे दी है, जिसमें 25 से 50 लाख व एक करोड़ एवं इससे ज्यादा के लोन के लिए सब्सिडी के स्लैब तैयार किये जा रहे हैं, जिससे जिले के उद्यमियों में उद्योग लगाने की दिलचस्पी बढ़ेगी।

ऋण लेने के पात्र उद्योग सूचीबद्ध होंगे

लोन के लिए पूरी पारदर्शिता बरती जायेगी। ऋण लेने के लिए पात्र उद्योगों की सूची में कौन-कौन शामिल होगा। इसके लिए जिलाधिकारी की अध्यक्षता में गठित कमेटी में बैंकर्स और उद्योग केन्द्र के अधिकारी शामिल रहेंगे। इसके लिए इंडस्ट्रीज एसोसिएशन से भी सुझाव मांगे गये हैं। यह पात्र उद्योगों की सूची तैयार कर बैंकों को फाइनेंस की स्वीकृति के लिए भेजी जायेगी।

यूपी में पहले पायदान पर रहा गाजियाबाद

जिले के उद्यमियों को 'वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट'(ओडीओपी) के तहत जिले के कुल 63 उद्यमियों को इस्पात इंडस्ट्रीज के लिए 228.5 करोड रुपये का लोन दिया गया है। दूसरे स्थान पर नोएडा है, जहां के उद्यमियों को 160 करोड़ रुपये का ऋण दिया गया था। जिले में इस्पात की 63 यूनिट और शुरू होने की उम्मीद है। गाजियाबाद में इससे न सिर्फ रोजगार के अवसर बढ़ेंगे, बल्कि जिले से होने वाले निर्यात में भी बढ़ोतरी होगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस