जागरण संवाददाता, गाजियाबाद : प्रॉपर्टी बेचने के लिए जीडीए बिल्डरों की राह पर चल पड़ा है। मधुबन-बापूधाम आवासीय योजना में प्रस्तावित मधुबन डिस्ट्रिक्ट सेंटर की दुकानों के प्लॉट बेचने के लिए कर्मचारियों से पर्चे बंटवाए जा रहे हैं। आते-जाते वाहनों को रोक कर कर्मचारी उन्हें पर्चा दे रहे हैं। इस तरह का प्रयास अब तक बिल्डर कर रहे थे।

अब तक राजनगर एक्सटेंशन, क्रॉसिग रिपब्लिक, एनएच-24, वैशाली और इंदिरापुरम में बिल्डरों के कर्मचारी और एजेंट प्रोजेक्ट की जानकारी छपे पर्चे बांटते दिखाई देते हैं। इसका फायदा बिल्डरों को हो रहा है। कई ग्राहक आकर्षित होकर प्रोजेक्ट देखने के लिए पहुंच रहे हैं। इससे उनके प्रोजेक्ट में फ्लैट और शॉप बिक रही है। प्रॉपर्टी बेचने के बिल्डरों के इस नुस्खे को जीडीए ने अपनाया है। मधुबन-बापूधाम आवासीय योजना स्थित मधुबन डिस्ट्रिक्ट सेंटर में दुकानों के प्लॉट बेचने के लिए जीडीए ने इस प्रयोग को शुरू किया है। मधुबन-बापूधाम आवासीय योजना जाने और वहां से आने वाले रास्तों पर जीडीए ने कर्मचारियों को पर्चे बांटने के लिए खड़ा किया है। वह आते-जाते लोगों को डिस्ट्रिक्ट सेंटर में प्लॉट खरीदने पर मिलने वाले लाभ के बारे में बता रहे हैं। चार पहिया वाहनों में आने-जाने वालों को रोक कर जानकारी देने के लिए पर्चे दिए जा रहे हैं। जीडीए अधिकारियों को उम्मीद है कि बिल्डरों की तरह उन्हें प्लॉट बेचने में फायदा होगा। मधुबन डिस्ट्रिक्ट सेंटर में दिए जा रहे ये लाभ

- प्लॉट के सौ फीसद क्षेत्रफल पर निर्माण की अनुमति

- आधे बेसमेंट के साथ तीन मंजिल तक निर्माण के तीन एफएएआर

- व्हीकल फ्री होंगी इस डिस्ट्रिक्ट सेंटर की सड़कें

बिल्डर अपने कर्मचारियों से पर्चे बंटवा कर प्रॉपर्टी बेच रहे हैं। उससे उन्हें फायदा हो रहा है। मधुबन डिस्ट्रिक्ट सेंटर के प्लॉटों को बेचने के लिए इस प्रयोग को जीडीए ने अपनाया है।

- कंचन वर्मा, वीसी, जीडीए

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस