जागरण संवाददाता, खोड़ा (गाजियाबाद) :

खोड़ा के वंदना एन्क्लेव में एक छात्रा से 3.5 लाख रुपये के गहने ठगने का मामला प्रकाश में आया है। पीली पर्ची गैंग के सदस्य ने छात्रा को झांसा दिया कि उसके माता-पिता को पुलिस ने पकड़ लिया है। गहने नहीं देने पर पुलिस उन्हें जेल भेज देगी। छात्रा के परिजनों ने खोड़ा थाने में मामले की शिकायत दी है।

मूल रूप से बिहार के मधुबनी जिले के रहने वाले राघवेंद्र कुमार वंदना एन्क्लेव में परिवार के साथ रहते हैं। वह नोएडा की एक कंपनी में नौकरी करते हैं। बुधवार देर शाम 12वीं कक्षा में पढ़ने वाली उनकी बेटी दीक्षा घर में अकेली थी, जबकि राघवेंद्र की पत्नी बाजार गईं थी। इस दौरान घर पर एक व्यक्ति आया। उस व्यक्ति ने दीक्षा से कहा कि वह उनके पिता के दोस्त हैं। पुलिस ने उनके माता-पिता को पकड़ लिया है। पुलिस उन्हें थाने ले गई है। आरोपी ने छात्रा से कहा कि उसके माता-पिता ने उनके घर से गहने ले जाने के लिए भेजा है, जिससे पुलिस उन्हें छोड़ दे। छात्रा ठग की बातों में आ गई और उसने घर में रखे सारे गहने दे दिए। पांच मिनट के बाद छात्रा की मां घर पर आई तो छात्रा जोर जोर से रोने लगी और उसने पूरी बात अपनी मां को बता दी। छात्रा की मां ने पुलिस को घटना के बारे में बताया। ठग तीन सोने की चेन, दो झुमके, एक मंगलसूत्र और दो सोने की अंगूठी ले गए हैं। छात्रा के परिजनों ने खोड़ा थाने में शिकायत दी है। एसएचओ ध्रुव भूषण दुबे का कहना है कि शिकायत के आधार पर आरोपियों की तलाश की जा रही है।

----------

ट्रांस ¨हडन में हुई घटनाएं :

12 जनवरी को वैशाली सेक्टर-पांच में घनश्याम मिश्रा की मां से लाखों के गहने और नकदी ठगे

8 जनवरी को इंदिरापुरम में बच्चों से लाखों के गहने व नकदी ठग ले गए आरोपी

2 जनवरी को साहिबाबाद के लाजपतनगर में प्रकाश की मां के तीन लाख के गहने व रुपये ठगे

27 दिसंबर को साहिबाबाद के गरिमा गार्डन में सरोज से 60 हजार रुपये के गहने ठगे

25 दिसंबर को खोड़ा में बच्ची से डेढ़ लाख के गहने और नगदी की ठगी

By Jagran