जागरण संवाददाता, गाजियाबाद : एनएच-9 स्थित महागुनपुरम सोसायटी में फ्लैट के गेट पर आग लगाकर परिवार को जान से मारने के प्रयास का मामला सामने आया है। रविवार तड़के करीब तीन बजे की है। पीड़ित ने पड़ोसी की मदद से आग पर काबू पाया। मामले में कविनगर थाने में अज्ञात के खिलाफ शिकायत दी गई है। घटना के बाद से पीड़ित व उनका परिवार दहशत में है।

सोसायटी के गायत्री टावर में 1664 नंबर के फ्लैट में प्रसून श्रीवास्तव पत्नी भोली व बेटी प्रतिभा के साथ रहते हैं। प्रसून विप्रो कंपनी में डाटाबेस एडमिनिस्ट्रेटर हैं। प्रसून ने बताया कि तड़के करीब तीन बजे फ्लैट में धुआं भरने लगा। इस कारण उनकी नींद खुली। गेट से धुआं अंदर आता देख पड़ोसी दयाराम यादव को फोन किया। दयाराम तुरंत बाहर आए तो फ्लैट के गेट पर आग लगी हुई थी। उन्होंने अपने परिवार की मदद से तुरंत घर से पानी लाकर आग को बुझाया। हालांकि इस दौरान लकड़ी का एक गेट पूरी तरह से जल चुका था। घटना के समय प्रसून के साथ पत्नी व बेटी भी सो रही थी। दयाराम के मुताबिक आग गेट पर केरोसीन या अन्य ज्वलनशील पदार्थ डालकर लगाई गई है। प्रसून ने कविनगर थाने में शिकायत देकर अज्ञात के खिलाफ तहरीर दी है। उनका जान को खतरा बताते हुए कहा कि पुलिस जांच कर आरोपित का पता लगाए। लिफ्ट में नहीं मिले सीसीटीवी

आग की सूचना पर पूरी सोसायटी में हड़कंप मच गया। इस घटना के बाद लोगों ने सीसीटीवी कैमरे चेक कराने की बात कही। प्रसून ने मेंटीनेंस कंपनी पर आरोप लगाते हुए कहा कि लिफ्ट में सीसीटीवी कैमरे भी नहीं मिले। वहीं सोसायटी के मुख्य द्वार से कोई आता-जाता नहीं दिख रहा है। आशंका जताई जा रही है कि आग सोसायटी में रहने वाले ने ही लगाई है। कविनगर एसएचओ राजकुमार शर्मा का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है। सोसायटी में लगे सीसीटीवी कैमरे खंगाले जा रहे हैं। इसके आधार पर ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस