जासं, गाजियाबाद : मसूरी के नाहल में सोमवार दोपहर बाद खेत में संदिग्ध हालात में लगी आग से कई किसानों की 50 बीघा गेहूं की तैयार खड़ी फसल जलकर राख हो गई। करीब एक बजे लगी आग की सूचना पर ग्रामीण पहुंचे तो आग ने विकराल रूप धारण कर लिया। आरोप है कि दमकल टीम सूचना देने के बाद भी मौके पर नहीं पहुंची। इस कारण देखते ही देखते ही पूरी फसल राख हो गई।

एसएचओ मसूरी ओपी सिंह ने बताया कि नाहल निवासी शम्शुद्दीन, मुजम्मिल, मुकम्मिल, बशीर, शाही व ताज मोहम्मद की गांव में करीब 50 बीघा खेत पर गेहूं की फसल खड़ी थी। सभी के खेत आसपास ही हैं। बशीर के मुताबिक गेहूं की फसल कटने ही वाली थी। इसी दौरान किसी ने आग लगा दी। आग के कारण करीब 10 लाख रुपये का नुकसान हुआ है। मुजम्मिल ने बताया कि आग की सूचना एक बजे मिली थी। मौके पर लोग पहुंचे, तब तक आधी से अधिक फसल जल चुकी थी। लोगों ने पुलिस के माध्यम से दमकल विभाग को सूचना दी। आरोप है कि दमकल विभाग की टीम मौके पर नहीं पहुंची। वहीं आग के बाद राजस्व विभाग के रजिस्ट्रार कानूनगो और लेखपाल मौके पर पहुंचे और फसल के नुकसान का सर्वे किया।

अग्निशमन अधिकारी का कहना है कि सूचना के आधार पर गाड़ी मौके पर भेजी गई थी, लेकिन तब तक आग लोगों द्वारा बुझा दी गई थी। वहीं एसएचओ ने बताया कि आग के संबंध में कोई शिकायत नहीं मिली है। तहरीर मिलती है तो जांच कर मामले में कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप