जासं, गाजियाबाद : पहचान छिपाने को फर्जी पते पर निवास प्रमाण-पत्र बनवाने के आरोप में एक व्यक्ति के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। दिल्ली निवासी व्यक्ति ने शिकायत दी थी कि फर्जी पते के आधार पर आरोपित ने उनकी करोड़ों की जमीन की फर्जी रजिस्ट्री किसी अन्य के नाम कर दी थी। पड़ताल के बाद उन्होंने एसडीएम, गाजियाबाद को शिकायत दी, जिसकी जांच के बाद लेखपाल ने सिहानी गेट थाने में आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है।

एसएचओ सिहानी गेट संजय पांडे ने बताया कि नई दिल्ली के दल्लूपुरा निवासी नवल सिंह के खिलाफ धोखाधड़ी व फर्जी दस्तावेज तैयार करने और इनका प्रयोग करने की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। लेखपाल रमेश चंद्र ने आरोपित के खिलाफ शिकायत दी थी, जिसके आधार पर रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है। लेखपाल के मुताबिक दल्लूपुरा में ही रहने वाले अजब सिंह ने नवल सिंह के फर्जी निवास प्रमाण-पत्र की शिकायत की थी। एसडीएम द्वारा लेखपाल सतवीर नागर से मामले की जांच कराई गई। नवल सिंह ने 16 फरवरी 2017 को दौलतपुरा, गाजियाबाद के पते का निवास प्रमाण-पत्र बनवाया था। इसमें उसने मकान संख्या शून्य दर्शायी थी। अजब सिंह का आरोप है कि दल्लूपुरा में उनकी करोड़ों रुपये की जमीन नवल ने फर्जी तरीके से अन्य व्यक्ति को बेच दी। खरीदार ने जब जमीन कब्जाने का प्रयास किया तो उन्हें मामले की जानकारी हुई। पड़ताल में उन्हें पता चला कि नवल सिंह ने खुद को गाजियाबाद का नागरिक बताते हुए इस जमीन का सौदा किया था।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस