-फोटो नं- 21मोदी-3 जागरण संवाददाता,मुरादनगर:

करीब साढ़े तीन माह पूर्व सैंथली भिक्कनपुर मार्ग पर टयूबवेल की ओहदी में मिले किसान के शव की घटना का पुलिस ने शुक्रवार को पर्दाफाश कर एक आरोपित को गिरफ्तार कर लिया। उसकी निशानदेही पर घटना में प्रयुक्त डंडा भी बरामद कर लिया गया। मामले में दो आरोपित अभी फरार हैं। गिरफ्तार किए गए आरोपित ने पुलिस को बताया कि परिवार की एक महिला से अवैध संबंधों के शक में उन्होंने किसान की हत्या कर दी और शव को ओहदी में फेंक दिया था। सात अक्टूबर 2021 को सैंथली से भिक्कनपुर को जाने वाले मार्ग पर ओहदी में एक शव लहूलुहान हालत में मिला था। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेज दिया। मृतक की पहचान मूलचंद निवासी रानी नंगला गांव, हस्तिनापुर, मेरठ के रूप में हुई। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में अत्याधिक चोट लगने से मूलचंद की मौत होने की पुष्टि हुई। पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्जकर मामले की छानबीन शुरू कर दी। थाना प्रभारी सतीश कुमार ने बताया कि मूलचंद यादव मुरादनगर की एक फैक्ट्री में काम करता था। उसी फैक्ट्री में सैंथली का मुनेश भी नौकरी करता था। बीमार होने पर महीनों पहले मुनेश की मौत हो गई। इसकी जानकारी मिलने पर मूलंचद सैंथली आया था। वह कई दिन तक मुनेश के घर रहा। वह मुनेश के भाई योगेश के घर भी रुका था। योगेश को मूलचंद के चरित्र पर शक हो गया था। परिवार की एक महिला से मूलचंद के अवैध संबंध होने का भी आरोपित को संदेह था। इसी के चलते योगेश उससे नफरत करने लगा था। कई बार कहने के बाद भी मूलचंद वहां से नहीं गया तो योगेश ने अपने दोस्तों के साथ मिलकर मूलचंद को रास्ते से हटाने की योजना बना ली। आरोपितों ने सैंथली से भिक्कनपुर को जाने वाले मार्ग पर पड़ने वाली मदन की टयूबवेल पर मूलचंद को बुला लिया। वहां उन्होंने पहले शराब पी। इसके बाद योगेश व पिकू शर्मा ने मूलचंद के हाथ पकड़ लिए और अमित त्यागी ने उसको डंडा मारकर मौत के घाट उतार दिया। आरोपित उसको ओहदी में फेंककर फरार हो गए। पुलिस इलेक्ट्रोनिक सर्विलांस समेत अन्य माध्यमों से मिली जानकारी के आधार पर आरोपितों तक पहुंची। आरोपित अमित को गिरफ्तार कर लिया गया। उसकी निशानदेही पर घटना में प्रयुक्त डंडा बरामद कर लिया गया। योगेश व पिकू की तलाश में दबिश दे रही हैं। उनको भी जल्द गिरफ्तार किया जाएगा।

Edited By: Jagran