संवाद सहयोगी, लोनी: ट्रॉनिका सिटी थाना क्षेत्र के औद्योगिक क्षेत्र स्थित एक गारमेंट फैक्ट्री में बृहस्पतिवार शाम अचानक आग लग गई। गनीमत रही कि लॉकडाउन के कारण फैक्ट्री बंद थी जिससे कोई हताहत नहीं हुआ। लेकिन आग से लाखों का कपड़ा जलकर राख हो गया। दमकल कर्मियों ने 12 फायर टेंकर पानी डालकर करीब दो घंटे में आग पर काबू पाया। दमकल अधिकारियों ने शार्ट सर्किट से आग लगने की संभावना जताई है।

पंजाबी बाग दिल्ली निवासी राजीव गोयल की ट्रॉनिका सिटी औद्योगिक क्षेत्र के सेक्टर ए-1, सी-3 में तीन मंजिला ब्लेसिग एक्सपोर्टस के नाम से गारमेंट की फैक्ट्री है। लॉकडाउन के कारण फैक्ट्री का कामकाज बंद है। लेकिन पटना निवासी मुकेश, रितेश और सुल्तानपुर निवासी श्रीकांत फैक्ट्री के द्वितीय तल पर बने कमरें में रह रहे हैं। फैक्ट्री में तैनात गार्ड इंद्रापुरी निवासी लाल सिंह अपनी डयूटी पर मौजूद थे। शाम करीब पांच बजे अचानक फैक्ट्री के प्रथम तल पर रखे कपड़े में आग लग गई। धुआं उठता देखकर गार्ड ने कर्मचारियों को नीचे बुलाया। साथ ही पुलिस, दमकल विभाग और फैक्ट्री मालिक को घटना की सूचना दी। मौके पर पहुंचे दकमकल कमियों ने आग बुझाने का प्रयास शुरू किया। 12 गाडि़यों से करीब सवा दो घंटे में आग पर काबू पाया जा सका। सीएफओ सुनील कुमार सिह ने बताया कि प्रारंभिक जांच में शार्ट सर्किट से आग लगने का माला सामने आया है। जांच के बाद आग लगने के सही कारणों का पता चल सकेगा। युवक ने बचाई कुत्ते की जान :

आग की घटना देखकर आसपास के लोग मौके पर पहुंचे। पंचलोक गांव निवासी मनीष ने दमकलकर्मियों के साथ आग बुझाने में मदद की। इस दौरान छत से कुत्ते (केंडी) के भौकने की आवाज सुनाई दी। जिस पर उन्होंने अपनी जान की परवाह किए बिना छत पर पहुंचे और वहां बंधे कुत्ते को खोलकर नीचे लाए। गार्ड ने बताया कि कुत्ता मालिक का पालतू है। उसे सुरक्षा के लिए फैक्ट्री में छोड़ा गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस