जागरण संवाददाता, गाजियाबाद : एनएच-9 स्थित महागुनपुरम सोसायटी में एओए का चुनाव एक बार फिर खटाई में पड़ गया है। मुख्य चुनाव अधिकारी के रूप में नामित जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी अमृता सिंह ने व्यस्तता का हवाला दे चुनाव कराने से इन्कार कर दिया है। अधिकारी ने इस संबंध में डिप्टी रजिस्ट्रार को पत्र भी लिखा है। सोसायटी में चुनाव कराने वाली समिति के सदस्यों का कहना है कि बृहस्पतिवार को वे डिप्टी रजिस्ट्रार से मिलकर नया चुनाव अधिकारी नियुक्त करने की मांग करेंगे। सोसायटी में 16 जनवरी को एओए का चुनाव होना है।

सोसायटी में पिछला चुनाव साल 2018 में हुआ था। समय पर दूसरा चुनाव न हो पाने के कारण कार्यकारिणी कालातीत हो गई। डिप्टी रजिस्ट्रार ने बीते साल सितंबर में चुनाव प्रक्रिया शुरू की, लेकिन चुनाव समिति के सदस्यों ने ही चुनाव कराने से इन्कार कर दिया था। बीते दिनों डिप्टी रजिस्ट्रार ने चुनाव कराने के लिए जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी अमृता सिंह को मुख्य चुनाव अधिकारी नामित किया था। इसी बीच निवर्तमान अध्यक्ष नवीन तोमर ने डीओडी (डीड आफ डिक्लीयरेशन) अधूरी होने और वोटर लिस्ट चस्पा न करने का आरोप लगाते हुए चुनाव का विरोध शुरू कर दिया था। मंगलवार को ही सोसायटी में नौ पदों के लिए प्रत्याशियों ने नामांकन किया था, लेकिन अमृता सिंह के इन्कार करने से एक बार फिर चुनाव प्रक्रिया पर विराम लग सकता है। चुनाव समिति के सदस्य विशाल खेड़ा ने बताया कि 28 लोगों ने नामांकन किया है और आज लोग नामांकन वापस ले सकते हैं। उनका कहना है कि चुनाव प्रक्रिया ना रुके इसके लिए आज डिप्टी रजिस्टर से मिलेंगे।

Edited By: Jagran