मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जागरण संवाददाता, साहिबाबाद : बारिश के बाद तुलसी निकेतन के लोग गंदगी और जलभराव से परेशान हैं। बारिश के पानी के साथ इलाके की गलियों में सीवर का पानी भरा है। कूड़ा नहीं उठाए जाने से गंदगी में मच्छर पनप रहे हैं। लोगों ने चेतावनी दी है कि अगर जीडीए अधिकारी मामले में कार्रवाई नहीं करते तो वे जीडीए मुख्यालय पर जाकर प्रदर्शन करने पर मजबूर होंगे।

तुलसी निकेतन के आरडब्ल्यूए अध्यक्ष कुलदीप कसाना ने बताया कि जीडीए ने मकान खाली करने के आदेश दिए हैं। लोग मकान के बदले मकान मिलने पर अड़े हैं। ऐसे में जीडीए लोगों को सुविधाएं भी नहीं दे रहा है। तीन दिन पूर्व हुई बारिश का पानी अभी भी गलियों में भरा है। इतना ही नहीं सीवर का पंप भी नहीं चल रहा है। इसके चलते सीवर ओवरफ्लो है और पानी नहीं निकल पा रहा है। चारो ओर गंदगी फैली है। गलियों में जमे पानी में मच्छर पनप रहे हैं। इससे बीमारियों के फैलने का खतरा बना हुआ है। लोगों का कहना है कि अगर जल्द से जल्द सफाई नहीं हुई तो वे जीडीए मुख्यालय पर धरना-प्रदर्शन करने को मजबूर होंगे। जीडीए ओएसडी वीके सिंह ने बताया कि जल्द ही इलाके में पंप लगवाकर सफाई करवाई जाएगी।

-----------

लाजपत नगर रामलीला मैदान बना कूड़ा: लाजपत नगर रामलीला मैदान में फैला कूड़ा लोगों के लिए परेशानी का सबब बना हुआ है। इलाके के लोगों का कहना है कि रामलीला मैदान को कूड़ाघर बना दिया गया है। लोग और निगम कर्मी यहां लाकर कूड़ा डाल रहे हैं। कूड़े में बारिश का पानी भरने से बदबू उठ रही है। इससे आसपास के लोगों का यहां रहना दूभर हो रहा है। स्थानीय निवासी विमल ने बताया कि कई बार निगम से शिकायत के बाद भी कार्रवाई नहीं की गई है। निगम के जोनल प्रभारी एसके गौतम ने बताया कि जल्द ही रामलीला मैदान की सफाई करवाई जाएगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप