संवाद सहयोगी, लोनी : न्यायिक हिरासत में मौत के मामले में महिला का शव बुधवार को मृतका की बेटी के सुपुर्द कर दिया गया। बेटी ने शव का अंतिम संस्कार करने से इन्कार कर दिया। वहीं, मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए दिनभर इलाके में भारी पुलिसबल तैनात रहा।

गौरतलब है कि सोमवार सुबह नोरसपुर गांव निवासी और प्रधान पिता की हत्या के मामले में वांछित सरिता की न्यायिक हिरासत में मौत हो गई थी। कोर्ट के आदेश के बाद बुधवार को सरिता का पोस्टमार्टम को सका। शाम करीब साढे़ छह बजे मृतका सरिता के शव को पोस्टमार्टम के बाद नोरसपुर लाया गया। मृतका की बेटी ने अंतिम संस्कार करने से इन्कार कर दिया। वह आरोपित पुलिस कर्मियों और अन्य लोगों पर रिपोर्ट दर्ज कराने की मांग पर अड़ी रही। उसका कहना था कि पुलिसकर्मियों के खिलाफ तहरीर दी है, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की है। मौके पर मौजूद एसडीएम अमित पाल शर्मा, एसपी ग्रामीण एके मौर्या, सीओ दुर्गेश कुमार आदि अधिकारियों ने उसे समझाने का प्रयास किया, लेकिन वह अपनी मांग पर अड़ी रही। मृतका की बेटी की जिद के सामने अधिकारियों की एक न चल सकी। रात करीब आठ बजे अधिकारी मौके से लौट गए।

Edited By: Jagran