जागरण संवाददाता, गाजियाबाद : गणेश चतुर्थी का पर्व इस बार 13 सितंबर को होने जा रहा है। जिसके साथ ही गणेश प्रतिमा की स्थापना भी होगी। शहर में दर्जनों सार्वजनिक स्थानों के अलावा कई घरों में भी गणपति विराजेंगे। जिसकी तैयारियां भी शहर में चल रही हैं। शहर के मूर्ति कारीगर मूर्तियों के निर्माण को अंतिम रूप देने में लगे हैं। यही नहीं गणपति की मूर्तियों के लिये बु¨कग भी तेजी से चल रही है।

13 सितंबर को गणेश चतुर्थी है, जिसके साथ-साथ शहर में भी मुंबई की तर्ज पर गणेश उत्सव की शुरुआत हो जाती है। सार्वजनिक रूप से या घरों में लोग भगवान गणेश की प्रतिमाओं को स्थापित करते हैं। फिर 10 दिन तक पूजा पाठ व उत्सव का दौर चलेगा। स्थापना के तीसरे दिन से विसर्जन शुरू होता है, जो कि दस दिनों तक चलता है। इन दस दिनों में शहर का पूरा वातावरण गणेश की भक्ति से सराबोर नजर आता है। बाजार में भी गणपति उत्सव की तैयारियां दिख रही हैं। मेरठ मोड़, मोहन चौराहा से इंदिरापुरम जाने वाली रोड आदि जगहों पर कारीगर गणपति की मूर्तियों को बनाने में जुटे हैं। तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है। मेरठ रोड पर कारीगर अर¨वद ने बताया कि मूर्तियों की बु¨कग काफी तेजी से चल रही है। गणपति स्थापना का दिन जैसे-जैसे करीब आ रहा है। बु¨कग भी बढ़ती जा रही है। इस बार भी हर रेंज में मूर्तियां मौजूद हैं। मूर्तियां 200 से लेकर 2 हजार तक की रेंज में मौजूद हैं।

Posted By: Jagran