जागरण संवाददाता, इंदिरापुरम : इंदिरापुरम की शिप्रा कृष्णा विस्टा सोसायटी में कुत्तों को नशीली दवाई खिलाकर उत्तेजक बनाने का मामला प्रकाश में आया है। सोसायटी निवासी आलोक रंजन की शिकायत पर पशु कल्याण अशासकीय संस्था (पीएफए) की सदस्य सहित दो महिलाओं के खिलाफ इंदिरापुरम थाना में रिपोर्ट दर्ज हुई है। इसके पहले पीएफए सदस्य ने सोसायटी के अज्ञात लोगों के खिलाफ कुत्ते को जहर देकर मारने का आरोप लगाते हुए रिपोर्ट दर्ज कराई थी। आलोक रंजन ने आरोप लगाया है कि सोसायटी में रहने वाली पीएफए सदस्य मेधावी मिश्रा व पूनम सिंह कुत्तों को नशीली दवाई खिला रही हैं। इससे कुत्ते उत्तेजक होकर बच्चों व महिलाओं को काट रहे हैं। 20 से अधिक बच्चे कुत्तों का शिकार हो चुके हैं। दो दिन पहले एक गर्भवती महिला को इन्हीं कुत्तों ने काट लिया था। उनका आरोप है कि इसकी जब शिकायत की जाती है, तो मेधावी व पूनम सिंह डराती-धमकाती हैं। उनकी शिकायत पर बुधवार देर रात मेधावी व पूनम के खिलाफ इंदिरापुरम थाना में रिपोर्ट दर्ज हुई है। सोसायटी के लोगों पर दर्ज है रिपोर्ट: मेधावी मिश्रा का आरोप है कि सोसायटी में रहने वाले मोमो नामक कुत्ते को जहर देकर मार दिया गया है। उसके शव को कूड़े में छिपाकर बाहर फेंक दिया गया है। उनकी शिकायत पर सोमवार को सोसायटी के अज्ञात लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज हुई है। दोनों पक्षों से मिली शिकायत के आधार पर रिपोर्ट दर्ज की गई है। जांच की जा रही है। जांच कर आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।

- निरीक्षक जितेंद्र सिंह, थाना प्रभारी, इंदिरापुरम।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस