जासं, गाजियाबाद : मसूरी थाना पुलिस ने सिकरोड़ा गांव में शुक्रवार रात मुठभेड़ के बाद गोकशी के नौ आरोपितों को गिरफ्तार किया है। इनसे तीन गोवंश, काटने के उपकरण और दो तमंचे बरामद किए हैं। पुलिस का आरोप है कि सिकरोड़ा गांव की प्रधान के पति फखरू के संरक्षण में गोकशी चल रही थी। हालांकि सूचना के बाद वह फरार हो गया।

थाना प्रभारी ओपी सिंह ने बताया कि गिरफ्तार आरोपित नूर आलम, नवी हसन, साजिद, अय्यूब, शकील, जाहिद, बिलाल, अनीस और मोहम्मद फरियाद हैं। सभी मसूरी क्षेत्र के ही रहने वाले हैं। मुठभेड़ के दौरान साजिद और सलीम नाम मौके से व मुठभेड़ की जानकारी होने पर फखरू घर से भाग गया। साजिद पशु लाने और सलीम कटान के बाद सप्लाई करता है। थाना प्रभारी ने बताया कि हमें बृहस्पतिवार रात सूचना मिली थी कि सिकरोड़ा के खेत में कुछ गोवंश बंधे हुए हैं। पुलिस मौके पर पहुंची तो आरोपितों ने भनक लगते ही दो फायर कर दिए। हालांकि पुलिस की टीमों ने चारों ओर से उन्हें घेरकर दबोच लिया। दो साल से चल रही गोकशी

गिरफ्तार आरोपितों ने पुलिस पूछताछ में बताया कि फखरू दो साल से लगातार गोकशी करा रहा है। वह सभी आरोपितों को संरक्षण देता है। इसके बदले मोटी रकम वसूलता है। आरोपित सड़क पर घूमने वाले गोवंश गाड़ियों में लादकर ले जाते थे। इसके अलावा चोरी भी करते थे। पुलिस ने फखरू के खिलाफ गोवध अधिनियम में मुकदमा दर्ज कर तलाश शुरू कर दी है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस