जागरण संवाददाता, साहिबाबाद : शातिर बदमाशों ने इंदिरापुरम थाना क्षेत्र स्थित सीआइएसएफ कट के पास मिर्च पाउडर स्प्रे करके उमेश मोदी समूह के निदेशक सुनील गुप्ता की कार से पांच लाख रुपये से भरा बैग पार कर दिया। उन्होंने रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

मूलरूप से बरेली के रहने वाले सुनील गुप्ता उमेश मोदी समूह में निदेशक हैं। सोमवार को वह दिल्ली से बरेली के लिए निकले। इंदिरापुरम थाना क्षेत्र में राष्ट्रीय राजमार्ग-नौ पर मोटरसाइकिल सवार दो युवकों ने इशारा करके उन्हें बताया कि उनकी कार के पहिये में हवा नहीं है। उनकी मर्सिडीज कार में पहिये की हवा की स्थिति चालक को दिखती रहती है। चालक ने चलते-चलते देखा तो कार के पीछे के पहिये में हवा नहीं थी। तब तक वह सीआइएसएफ कट के पास पहुंच गए। चालक ने पंक्चर की दुकान के पास कार रोकी। नीचे उतर कर पंक्चर बनवाने लगा। इस दौरान सुनील गुप्ता को आंखों और गले में तेज जलन महसूस हुई। यही स्थिति उनके चालक के साथ भी हुई। वह नीचे उतरे और पानी से मुंह धुला। उसके बाद कार में सवार हो गए। पंक्चर बनने के बाद वह चालक के साथ बरेली के लिए निकले। थोड़ी दूर जाने पर सुनील गुप्ता की नजर पीछे की सीट पर पड़ी तो उनके होश उड़ गए। सीट पर रखा बैग गायब था। उसमें पांच लाख रुपये, एक आइफोन व दो अन्य मोबाइल रखे थे। इस पर उन्हें पता चला कि बदमाशों ने मिर्च पाउडर स्प्रे करके उनका बैग पार कर दिया। उन्होंने इसकी इंदिरापुरम थाने में शिकायत दी। रात में अज्ञात बदमाशों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज हुई।

------

चालक के उतरने के दौरान किया स्प्रे : आशंका जाहिर की जा रही कि बदमाशों ने ही सड़क पर कील आदि डालकर सुनील गुप्ता की कार पंक्चर की। पंक्चर बनवाने के लिए चालक ने नीचे उतरते वक्त जब कार का दरवाजा खोला, तभी बदमाशों ने मिर्च पाउडर स्प्रे कर दिया। सुनील गुप्ता मुंह धुलने के लिए नीचे उतर गए और चालक पंक्चर बनवाने में व्यस्त हो गया। इस दौरान बदमाशों ने बैग पार कर दिया। पास में यातायात पुलिस का बूथ है। यहां यातायात पुलिसकर्मी तैनात थे। उन्हें भी वारदात की भनक नहीं लगी।

----------

पुलिस ने की छानबीन : सूचना पर स्थानीय पुलिस ने मौके पर पहुंचकर छानबीन की। दुकानदारों और आटो चालकों से पूछताछ की। मंगलवार सुबह क्राइम ब्रांच की टीम ने भी मौके पर पहुंचकर जांच-पड़ताल की। सीसीटीवी कैमरों की फुटेज भी खंगाली। पुलिस को अब तक कोई अहम सुराग नहीं मिला है।

--------

तहरीर के आधार पर रिपोर्ट दर्ज करके जांच की जा रही है। तीन टीमें लगी हैं। टप्पेबाजी का मामला सामने आ रहा है।

- ज्ञानेंद्र सिंह, पुलिस अधीक्षक नगर द्वितीय गाजियाबाद

Edited By: Jagran