जागरण संवाददाता, गाजियाबाद : रमतेराम रोड स्थित मल्टीलेवल पार्किंग संचालक को नगर निगम ने 30 लाख रुपये का रिकवरी नोटिस थमा दिया है। इसके अलावा उससे ठेका छीन लिया गया है। निगम अधिकारियों का आरोप है कि संचालक ने ठेका लेकर मात्र 25 फीसद राशि जमा कराई थी। फिर ठेका अवधि विस्तार लिए बगैर तीन सालों से गलत तरह से पार्किंग संचालित कर रहा था।

अपर नगर आयुक्त शिवपूजन यादव ने बताया कि वित्त वर्ष 2016-17 में सौरभ अग्रवाल नामक व्यक्ति को मल्टीलेवल पार्किंग का ठेका 10.50 लाख रुपये में दिया गया था। उस वक्त उन्होंने 2.5 लाख रुपये निगम कोष में जमा कराकर पार्किंग पर कब्जा ले लिया और संचालित करने लगे। उस वक्त ठेका संपत्ति विभाग ने किया था। बाद में संचालक ने पार्किंग स्थल पर तमाम खामियां गिनाना शुरू कर दिया। बकाया राशि का भुगतान भी नहीं किया। उसके बाद से पार्किंग का ठेका नहीं छोड़ा गया। संचालक पार्किंग चलाता रहा। इस बारे में कई शिकायतें हुईं। जिन्हें नजरअंदाज किया जाता रहा। यह मामला नगर आयुक्त दिनेश चंद्र के संज्ञान में आने पर उन्होंने मामले में जांच के आदेश दे दिए। मुख्य कर निर्धारण अधिकारी संजीव कुमार सिन्हा ने पार्किंग स्थल पर पहुंच कर जांच की तो पाया इसमें रोजाना 400 से 500 वाहन खड़े होते हैं। संचालक को इससे मोटी आय हो रही है। लेकिन, वह खामियां गिनाते हुए निगम कोष में राशि जमा नहीं करा रहा। इस पर कार्रवाई करते हुए पार्किंग का कब्जा निगम ने वापस ले लिया गया है। संचालक को नोटिस थमा दिया गया है। उसमें बीते तीन साल के वाहनों की पार्किंग का आकलन करते हुए 30 लाख रुपये की रिकवरी निकाली गई है। तय हुआ है कि नए सिरे से इस पार्किंग का ठेका छोड़ा जाएगा।

पार्किंग पर प्रहार जारी

नगर निगम ने गलत तरह से संचालित हो रही पार्किंग पर प्रहार जारी रखा हुआ है। बीते दिन गौड़ मॉल के सामने अवैध पार्किंग संचालित करते हुए दो युवकों को पकड़ा था। दोनों को पुलिस के हवाले कर दिया गया था। इससे पहले हिडन रिवर मेट्रो स्टेशन के सामने अवैध पार्किंग बंद कराई गई थी। कई अन्य जगह कार्रवाई के बाद पुलिस को पत्र भेज अवैध पार्किंग रोकने के लिए कहा गया था।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस