जागरण संवाददाता, फीरोजाबाद: दैनिक जागरण के प्रश्न पहर में बुधवार को एडीएम के स्थान पर आचार संहिता प्रभारी एवं सिटी मजिस्ट्रेट अजय कुमार तिवारी ने मतदाता, मतदाता सूची और बूथ से संबंधित शिकायतें सुनीं और उनका निदान कराया। अधिकांश शिकायतें आवेदन के बाद भी मतदाता सूची में नाम न बढ़ने की आईं। सिटी मजिस्ट्रेट ने बताया कि ऐसे लोग अपनी तहसील में एसडीएम से संपर्क कर अपना नाम जुड़वा सकते हैं। उन्होंने सभी से अपील की कि वे मतदान जरूर करें। प्रस्तुत हैं कुछ सवाल एवं उनके जवाब।

हमारी कॉलोनी में कई महिलाओं एवं नवविवाहिताओं के वोट नहीं बने हैं, बीएलओ से फॉर्म मांगे तो उनका कहना था कि केवल पुरुषों के ही वोट बनाए जाएंगे। क्या महिलाओं को मतदान का अधिकार नहीं हैं। (शहनाज बेगम, पचवान आवासीय कॉलोनी)

-देश के सभी पात्र व्यक्तियों को मतदान का समान अधिकार है। बीएलओ को गलत जानकारी है। हम एसडीएम से बात करके अपनी कॉलोनी में फॉर्म भरवाएंगे।

सर हमारे गांव में 16 बूथ हैं, लेकिन उन तक जाने के लिए रास्ता नहीं है। सीसीटीवी कैमरे भी नहीं लगे हैं। (प्रेमपाल सिंह, पुष्पेंद्र कुमार, फतेहपुरा, नारखी)

-अधिकांश बूथों और उन तक जाने वाले रास्तों को दुरुस्त करा दिया गया है। यदि आपके गांव में समस्या है तो इसकी जांच कर तत्काल कार्रवाई की जाएगी। कैमरे भी लगवाए जाएंगे।

मेरी उम्र 21 साल है। वोटर लिस्ट में नाम जुड़वाने के लिए तीन बार आवेदन कर चुका हैं, लेकिन अब तक नाम नहीं जुड़ा। क्या करें? मैं इस बार वोट दे पाऊंगा या नहीं। (गोविद यादव, सुहाग नगर, राधा सविता नगर)

-हो सकता है कि आपके आवेदन पर कार्रवाई चल रही हो। आप एक बार अपनी तहसील में जाकर एसडीएम या तहसीलदार से संपर्क करें।

हमारा नाम सूची में तो शामिल है, लेकिन हमें वोटर कार्ड अब तक नहीं मिला है। क्या हम मतदान कर पाएंगे। (कमरुद्दीन रामगढ़, कमलेश सैलई)

-मतदाता सूची में नाम है तो आप आयोग द्वारा दिए गए 11 में से किसी एक विकल्प का उपयोग कर मतदान कर सकते हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस