जागरण संवाददाता, फीरोजाबाद: चुनाव आयोग के निर्देश पर रविवार को लगे विशेष शिविर में युवाओं की संख्या कम रही। इस कारण बूथों पर सन्नाटा पसरा रहा। दो-चार लोग संशोधित मतदाता सूची देखने जरूर आए।

मार्च के शुरूआत में ही चुनाव आचार संहिता लगने की संभावना जताई जा रही है। इससे पहले आयोग ने उन लोगों एवं युवाओं को मतदाता बनने का एक और मौका दिया जो अब तक किसी कारण से अपना नाम मतदाता सूची में शामिल नहीं करा पाए थे। इनके लिए शनिवार और रविवार को सभी बूथों पर बीएलओ को संशोधित मतदाता सूची के साथ बिठाया गया था। रविवार को बूथों पर बीएलओ तो बैठे, लेकिन वोटर बनने के लिए आवेदन बहुत कम आए। हालांकि ऐसे कुछ लोग जरूर आए जिन्होंने पिछले साल अक्टूबर, नवंबर में मतदाता बनने या नाम, पते में संशोधन के लिए आवेदन किया था। एसआरके और डीएवी इंटर कॉलेज में यह नजारा दिखाई दिया। शनिवार को आए 435 आवेदन:

शनिवार को वोटर बनने के लिए जिले भर में कुल 435 आवेदन आए। जबकि नाम काटने के लिए 198 और नाम, पते में संशोधन के लिए 59 आवेदन आए। सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी रेनू अग्रवाल का कहना है कि नवंबर तक चले अभियान में अधिकांश युवाओं द्वारा आवेदन किया जा चुका है। इसलिए इन शिविरों में संख्या कम है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस