फीरोजाबाद, जागरण संवाददाता। नगर निगम बोर्ड में कार्यकारिणी सदस्य बनने को छह सदस्य ही निर्धारित वोटों का आंकड़ा छू सके। वोटों की पहरेदारी करने के बाद भी तीन सदस्य जीत के लिए वोट नहीं जुटा सके, जिससे उन्हें हार का मुंह देखना पड़ा।

नगर निगम प्रशासन द्वारा पालीवाल हॉल में विशेष सदन अधिवेशन बुलाया गया। मेयर नूतन राठौर ने 12.15 बजे सदन की कार्रवाई शुरू की। नगर आयुक्त विजय कुमार ने बताया कि कार्यकारिणी के कुल 11 में से पांच सदस्य लॉटरी के माध्यम से बाहर किए जाएंगे। सभी सदस्यों ने अपने नाम की पर्ची डाली। लॉटरी द्वारा पांच पुराने सदस्य को बाहर किया गया। छह नए सदस्य चुनने को दोपहर 1.15 बजे नामांकन की प्रक्रिया शुरू हुई, जिसमें विद्याराम शंखवार, मायादेवी, संतोषी राठौर, अवधेश वाल्मीकि, मुनेंद्र यादव, रेखा यादव, पूनम शर्मा, मोहित अग्रवाल व हाजी हबीब खां ने आवेदन किए। नगर आयुक्त ने नाम वापसी को दस मिनट का समय दिया, लेकिन किसी पार्षद ने नाम वापस नहीं लिया। छह सदस्यों के लिए नौ नामांकन आने पर चुनाव की घोषणा की गई।

नगर आयुक्त ने पार्षदों को वोटिग की प्रक्रिया समझाई। दोपहर तीन बजे से वोटिग की प्रक्रिया शुरू हुई। मेयर नूतन राठौर ने एक-एक कर सभी पार्षदों को वोट डालने के लिए बुलाया। डेढ़ घंटे में सभी 70 पार्षदों ने वोट डाले।

वोटिग प्रक्रिया पूरी होने पर अलीगढ़ के सहायक निर्वाचन अधिकारी कौशल कुमार, आगरा नगर निगम के सदन लिपिक वीरेंद्र कुमार, सेवानिवृत्त कर्मचारी लायकराम शर्मा द्वारा मतगणना की गई। मेयर नूतन राठौर द्वारा विजयी प्रत्याशियों के नामों की घोषणा की गई।

चुनाव प्रक्रिया में चीफ इंजीनियर एसके मित्तल, जलकल महाप्रबंधक सुरेशचंद्र, एक्सईएन चंदन सिंह, सहायक अभियंता अतुल पांडेय, कार्यालय अधीक्षक सीपी सिंह, सदन लिपिक अशोक कुलश्रेष्ठ ने सहयोग किया।

कार्यकारिणी से यह सदस्य हुए बाहर:

नगर निगम के पहले कार्यकारिणी चुनाव में मुनेंद्र यादव, असलम रजा, कासिम सिद्दीकी, हरिओम वर्मा, योगेश शंखवार, पूनम शर्मा, विनीता अग्रवाल, ममता देवी सहित कुल 11 सदस्य चुने गए थे। इसमें लॉटरी के माध्यम से मुहम्मद इसरार, वाहिद अहमद, विनीता अग्रवाल, मुनेंद्र यादव, पूनम शर्मा को बाहर किया गया। चुनाव में इन पार्षदों को मिली जीत:

अवधेश वाल्मीकि, मायादेवी, मुनेंद्र यादव, रेखा यादव, संतोषी राठौर व हाजी हबीब खान। इन पार्षदों का करना पड़ा हार का सामना:

पूनम शर्मा, मोहित अग्रवाल व विद्याराम शंखवार।

अब उपसभापति को जोर आजमाइश शुरू:

नगर निगम में कार्यकारिणी सदस्यों का चुनाव पूरा होने के बाद अब उपसभापति बनने को जोर आजमाइश शुरू हो गई। उपसभापति बनने की चाह रखने वाले सदस्यों ने चुनाव खत्म होने के बाद भी सदस्यों की घेराबंदी शुरू कर दी। नगर आयुक्त विजय कुमार ने बताया कि 12 सदस्यों द्वारा गुरुवार को उपसभापति का चुनाव कराया जाएगा।

कार्यकारिणी चुनाव रद्द कराने की मांग:

पार्षद विनीता अग्रवाल ने मंडलायुक्त को भेजी शिकायत में कार्यकारिणी का चुनाव निरस्त कराने की मांग की है। उनका कहना है कि पीठासीन अधिकारी होने के बावजूद मेयर द्वारा स्वयं पर्ची निकाली गईं। जबकि पीठासीन अधिकारी को चुनाव प्रक्रिया में पर्ची निकालने का कोई अधिकार नहीं है। कार्यकारिणी सदस्यों के विरोध के बाद भी वह नहीं मानीं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप