जासं, फीरोजाबाद: राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ द्वारा शनिवार को महर्षि वाल्मीकि जयंती पर सामाजिक समरसता गतिविधि के माध्यम से जिले भर में सादगी पूर्वक मनाई जाएगी। वाल्मीकि मंदिरों में साज-सज्जा के बाद द्वीप प्रज्ज्वलन किया जाएगा। विभाग प्रचारक धर्मेंद्र भारत ने बताया कि भारतीय संस्कृति के महानायक भगवान श्रीराम कथा रामायण के रचयिता महर्षि वाल्मीकि को प्रथम कवि माना जाता है। प्रभु श्रीराम ने अपनी पत्नी सीता के गर्भकाल में संरक्षण का दायित्व उन्हें सौंपा था।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021