संवाद सहयोगी, टूंडला: स्टेशन रोड पर रोक के बावजूद स्थापित स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा का लोकार्पण कर दिया गया। प्रशासन व पुलिस हाथ पर हाथ धरे बैठा रहा। स्वामी विवेकानंद की जयंती पर पूर्व घोषित कार्यक्रम में चेयरमैन एबीवीपी और सामाजिक संगठनों के साथ पहुंचे और प्रतिमा का अनावरण कर तस्वीरें ¨खचवाई। एफआइआर की चेतावनी दे रहे एसडीएम अब कार्रवाई के लिए अनुमति आने की बात रह रहे हैं।

बीते शनिवार को टूंडला के स्टेशन रोड पर चेयरमैन रामबहादुर चक ने एबीवीपी की मांग पर स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा स्थापित कराई थी। एसडीएम रामसूरत पांडेय ने बिना अनुमति प्रतिमा लगाने का विरोध करते हुए काम बंद करा दिया था। इसके बाद प्रतिमा को ढक दिया गया। एसडीएम ने चेयरमैन को नोटिस भेज तीन दिन में प्रतिमा हटाने को कहा, लेकिन उसे नहीं हटवाया और दो टूक कह दिया खुद हटवा दे प्रशासन, हम नहीं हटाएंगे। पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों ने आपत्ति जताते हुए मुकदमा कराने की बात कही। इसके बाद लोकार्पण कार्यक्रम रद माना जा रहा था।

शनिवार सुबह लगभग सात बजे स्वामी विवेकानंद की जयंती पर एबीवीपी के साथ नगर के ¨हदू संगठन और समाजसेवी संगठनों के साथ चेयरमैन रामबहादुर चक मौके पर पहुंचे और प्रतिमा का अनावरण कर दिया। सभी ने प्रतिमा पर माल्यार्पण कर नारे लगाए। चेयरमैन रामबहादुर चक का कहना है कि प्रतिमा समाजसेवियों और एबीवीपी के पदाधिकारियों द्वारा लगवाई गई है। उन्होंने ही प्रतिमा का अनावरण किया है। नगर का चेयरमैन होने के नाते वह कार्यक्रम में शामिल हुए। हमने बिना परमिशन प्रतिमा लगाने के मामले में चेयरमैन व अन्य के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराने की स्वीकृति के लिए डीएम को पत्र भेजा है। स्वीकृति आते ही मुकदमा दर्ज कराया जाएगा। प्रतिमा लगाने के दौरान वीडियो में दिखने वाले लोगों के नाम भी मुकदमे में शामिल किए जाएंगे। रामसूरत पांडे, एसडीएम।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप