जागरण संवाददाता, फीरोजाबाद: कांच उद्योग को बढ़ावा देने के लिए सुहागनगरी में सोमवार को उद्यम समागम का शुभारंभ हो गया। स्टेशन रोड स्थित जिला उद्योग केंद्र पर उद्यमियों, हस्तशिल्पियों ने कांच की चूड़ियां, कांच के खिलौने, झूमर, एक्सपोर्ट सहित अन्य आइटमों की 100 स्टॉल सजाए गए। दूसरे सत्र में सीडीजीआइ व आइटीआइ द्वारा तकनीकी सत्र का आयोजन हुआ।

सांसद चंद्रसेन जादौन, सदर विधायक मनीष असीजा, डीएम चंद्र विजय सिंह ने द्वीप प्रज्ज्वलन कर उद्यम समागम का विधिवत शुभारंभ किया। सांसद चंद्रसेन जादौन ने कहा कि उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए ऐसे आयोजन निरंतर होने चाहिए। उद्योगों की तरक्की होने पर ही देश की अर्थव्यवस्था मजबूत होती है। उद्योगों से जुड़ी समस्याओं को प्राथमिकता से हल कराया जाएगा। विधायक मनीष असीजा ने कहा कि सीएम योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में प्रदेश सरकार उद्योगों को बढ़ावा देने को अनूठे प्रयास कर रही है। प्रदेश के परांपरागत उद्योगों की तरक्की को ओडीओपी योजना लागू की गई। इसमें आगरा का जूता उद्योग, फीरोजाबाद कांच उद्योग, बनारस का जरदोजी, अलीगढ़ का ताला आदि शामिल हैं। उन्होंने उद्यम समागम में सीडीजीआइ, आइटीआइ, सोलर विभाग सहित अन्य विभागों के तकनीकी सत्र गंभीरता से कराने पर जोर दिया।

डीएम चंद्र विजय सिंह ने कहा कि उद्यम समागम से कांच उद्योग को काफी लाभ मिलेगा। उद्यम समागम का मुख्य उद्देश्य उद्योगों को बढ़ावा देना है। सांसद, विधायक, डीएम ने उद्यम समागम में सजी कांच उत्पादों की स्टॉल का अवलोकन किया। एक्सपोर्टर, उद्यमी व हस्तशिल्पियों से कांच उत्पादों के बारे में जानकारी हासिल की। कार्यक्रम में सहायक निदेशक एमएसएमइ राजीव कुमार, उपायुक्त उद्योग अमरेश कुमार पांडेय, सहायक प्रबंधक संदीप कुमार, शत्रुधन दिवाकर, सोनील कुमार, पूजा सिंह, प्रधान सहायक राजेश सक्सेना, उद्यमी हेमंत अग्रवाल बल्लू, संजय अग्रवाल, संतोष अग्रवाल, राजकुमार मित्तल, मुकेश बंसल टोनी, राजकुमार शर्मा, कुमुद शर्मा आदि शामिल रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप