संवाद सहयोगी, टूंडला: आसमान से बरसती आग के बीच सरकार के चौबीस घंटे बिजली के दावे कैबिनेट मंत्री की विधानसभा में ही तार-तार हो गए। आलम ये है कि कई दिनों से रात में अघोषित कटौती की जा रही है। कुल मिलाकर 12 घंटे तक आपूर्ति बंद रहती है और अफसरों के पास जनता के लिए इसका कोई जवाब नहीं है। जनता की शिकायत के बाद कैबिनेट मंत्री प्रो. एसपी ¨सह बघेल ने एमडी से बात की।

टूंडला नगर में पिछले दिनों से जैसे-जैसे गर्मी बढ़ रही है, वैसे-वैसे बिजली की आंख मिचौली का खेल तेज होता जा रहा है। कुछ दिनों पूर्व तक रात्रि में विद्युत कटौती नहीं की जाती थी, जिसकी वजह से लोग रात को चैन की नींद ले पा रहे थे, लेकिन अब रात्रि में दो से चार घंटे तक की कटौती की जा रही है। इसकी वजह से लोगों की रात की नींद भी पूरी नहीं हो पा रही है। शुक्रवार सारी रात्रि बिजली नहीं आई, जिसकी वजह से लोगों की रात आंखों में ही कटी। आए दिन हो रही विद्युत कटौती को लेकर नगरवासी परेशान हैं।अघोषित विद्युत कटौती बंद न होने पर नगरवासियों ने आंदोलन की चेतावनी दी है। विद्युत समस्या से जूझ रहे लोगों ने रात्रि में ही कैबिनेट मंत्री प्रो.एसपी ¨सह बघेल को समस्या से अवगत कराया। मंत्री ने प्रबंध निदेशक विद्युत वितरण निगम को फोन कर समस्या के समाधान की बात कही। चेतावनी देने वालों में मुकेश कुमार, दीपेन्द्र कुमार, रामकुमार, सोहन ¨सह, रामसनेही लाल, रामनाथ शर्मा, दीपक गुप्ता, निशांत जैन, अभिषेक जैन, धर्मवीर ¨सह, अशोक कुमार, दीनेन्द्र कुमार, प्रताप ¨सह, राहुल कुमार, अनिल कुमार आदि प्रमुख रहे।

इंसेट-

कम वोल्टेज भी कर रहे परेशान

टूंडला: विद्युत कटौती के साथ ही कम वोल्टेज भी परेशानी का कारण बन रहा है। कम वोल्टेज आने के कारण विद्युत उपकरण फुंक रहे हैं। वहीं पानी की विकराल समस्या खड़ी हो गई है। नगरवासियों ने समस्या से निजात दिलाए जाने की मांग की है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप