संवाद सहयोगी, फीरोजाबाद: पांच जनवरी को फरिहा में हत्या कर फेंकी गई वीरपाल की लाश की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली। पुलिस ने हत्या के आरोपित और उसके साथी को गिरफ्तार कर लिया। आरोपित पालीटेक्निक का छात्र है।

गुरुवार को पत्रकार वार्ता में एसपी ग्रामीण राजेश कुमार ने बताया कि पांच जनवरी की सुबह गांव लखौआ निवासी वीरपाल वाल्मीकि (28) का शव सेंगर नहर की पटरी किनारे पड़ा मिला था। उसके गले पर तार कसने के निशान थे। एक जनवरी को वीरपाल का मोबाइल चोरी हुआ, जो शिवा के छोटे भाई से बरामद हुआ, जिसके बाद वह रंजिश मानने लगा।

एसपी ग्रामीण ने बताया कि पूछताछ में शिवा पुलिस को गुमराह करता रहा। उसका कहना कि वह पांच जनवरी को पूरे समय एसीएमटी पालीटेक्निक कालेज रूपसपुर में था। पुलिस ने कालेज की सीसीटीवी रिकार्डिंग खंगाली, जिसमें शिवा दिख रहा था। इसके बाद पुलिस ने नए सिरे से मोबाइल की काल डिटेल खंगाली तो उसकी वीरपाल की बहन से बात होना पाया गया। इसके बाद परिवार वालों से बात की गई तो पता चला कि वीरपाल बहन से बात करने को लेकर शिवा का विरोध करता था। पुलिस ने जब शिवा को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने गुनाह कुबूल कर लिया। एसपी ग्रामीण ने बताया कि शिवा ने बताया कि बात करने के विरोध को लेकर वह वीरपाल से रंजिश मानने लगा था। पांच जनवरी की सुबह वीरपाल शूकर लेकर नहर किनारे गया था। वहां शिवा ने अपने दोस्त अनिल के साथ मिलकर बाइक के क्लच वायर से गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी। इसके बाद वहां से कालेज चला गया।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप