-लॉकडाउन में छूट के बाद भी नहीं बनवा रहे शौचालय

-प्रशासन ने इसी महीने निर्माण पूरा कराने का लक्ष्य दिया है

जासं, फीरोजाबाद: पहले लॉकडाउन का रोना रोने वाले एक दर्जन से अधिक ग्राम पंचायत सचिव छूट मिलने के बाद भी शौचालय निर्माण नहीं करा रहे हैं। डीपीआरओ ने इन्हें नोटिस जारी कर निलंबित करने की चेतावनी दी है।

बेस लाइन सर्वे की सूची से वंचित परिवारों के लिए शौचालय बनाने का काम चल रहा है। वैसे ये काम 31 मार्च तक पूरा होना था, लेकिन लॉकडाउन के कारण लक्ष्य पूरा नहीं हो सका। अब गांवों में विकास कार्य कराने की अनुमति दे दी गई है। इसके साथ ही गांवों में शौचालय निर्माण का काम भी शुरू हो गया है, लेकिन कई पंचायतों में सचिव लापरवाही बरत रहे हैं। शिकोहाबाद में ऐसी सबसे अधिक पंचायतें हैं। डीपीआरओ ने नीरज कुमार सिन्हा ने बताया कि शिकोहाबाद की हरिया, आरौंज, नगला उमर, जहांगीरपुर गेलरई, नगला बाजदार, बदनपुर करखा, बेरई, रजोपुरा ग्राम पंचायत में काम शुरू नहीं हुई है।

इसी तरह अरांव की पिड़सरा, हाथवंत की फरीदा बरौली, बलिपुर तपस्या, रखावली, सांखिनी, नारखी की ओखरा, भीकनपुर मेघपुर और टूंडला की बसई में निर्माण नहीं कराया जा रहा है। इनमें पंचायतों में 350 से अधिक शौचालय बनाने के लिए 31 मई तक का समय दिया गया है। यदि सचिव लक्ष्य पूरा नहीं करेंगे तो इस महीने बाद निलंबित कर दिए जाएंगे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस