फीरोजाबाद, जागरण संवाददाता। किसान आयोग के गठन, कर्ज माफी, पेंशन जैसी मांगों को लेकर भारतीय किसान यूनियन भानू के कार्यकर्ताओं ने मंगलवार को जिला मुख्यालय पर प्रदर्शन किया। वे गले में आलू की माला पहनकर आए थे। उन्होंने राज्यपाल को संबोधित मांगपत्र प्रशासनिक अधिकारी को सौंपा।

किसानों ने कहा कि प्रति बोरा आलू की लागत 350 रुपये आती है। 100 रुपये कोल्ड स्टोरेज का किराया लगता है। इसके बाद लाने ले जाने में वाहनों का भाड़ा अलग से लगता है, लेकिन बाजार में लागत मूल्य भी नहीं मिल रहा है। इससे किसान आत्महत्या के कगार पर हैं। एक बोरी आलू की कीमत कम से कम 800 रुपये तय होनी चाहिए। प्रदेश महासचिव बिजेंद्र सिंह टाइगर ने कहा कि प्रदेश सरकार गोवंश के संरक्षण में नाकाम साबित हुई है। सरकार को तत्काल प्रभावी कार्रवाई करनी चाहिए। जिलाध्यक्ष राजकुमार सिंह ने कहा कि ट्रैफिक नियमों के नाम पर किसानों का शोषण हो रहा है। ट्रैक्टर का भी चालान हो रहा है।

पदाधिकारियों ने राज्यपाल से 24 घंटे मुफ्त बिजली देने, किसान आयोग के गठन करने और सभी कर्जे माफ करने की मांग की है। क्षेत्रपाल सिंह शाक्य, कप्तान सिंह, विजयपाल, विष्णुदयाल, रामप्रताप सिंह, अमित कुमार, राम सिंह वर्मा, धीरेंद्र कुमार, दीपसिंह बघेल, नरेंद्र सिंह आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप